Gujarat Exclusive > राजनीति > सावित्री बाई फुले ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, पार्टी पर आवाज नहीं सुनने का लगाया आरोप

सावित्री बाई फुले ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, पार्टी पर आवाज नहीं सुनने का लगाया आरोप

0
303

2019 लोकसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता लेने वाली पूर्व भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने अब कांग्रेस पर भी बड़ा आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में मेरी आवाज नहीं सुनी जा रही है इसलिए पार्टी से मैं खुद इस्तीफा दे रही हूं.

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद पूर्व सांसद सावित्री ने कहा कि दलित समुदाय के लोगों की आवाज को बुलंद करने के लिए और इंसाफ दिलवाने के लिए वह नई पार्टी बनाएंगी. नई पार्टी का एलान वह लखनऊ में 19 जनवरी को कर सकती हैं.

 

बीजेपी छोड़ने के बाद सावित्री बाई फुले ने कांग्रेस का हाथ थामा था. सावित्री बाई फुले ने बहराइच के बलहा से पहली बार 2012 में विधानसभा चुनाव जीता था. इसके बाद वह 2014 में बहराइच से लोकसभा चुनाव में खड़ी हुईं और जीत गईं. 2019 में सावित्री बाई कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ीं और इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा. हार ही नहीं बल्कि वो तीसरे नंबर पर रहीं और इस चुनाव में उन्हें महज 35 हजार वोट मिले थे.