Gujarat Exclusive > देश-विदेश > यस बैंक संकट पर आगे आया SBI, कहा- 49 प्रतिशत शेयर खरीदने की योजना

यस बैंक संकट पर आगे आया SBI, कहा- 49 प्रतिशत शेयर खरीदने की योजना

0
728

अचानक से पैदा हुए यस बैंक के संकट से उसके खाताधारक परेशान हैं. इसका बुरा असर शेयर बाजार पर भी देखने को मिल रहा है. इस संकट को खत्म करने के लिए एसबीआई आगे आया है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि एसबीआई यस बैंक को संकट से निकालने की योजना बना रही है. यस बैंक में जमा खाताधरों का पैसा सुरक्षित है. यस बैंक के संकट पर एसबीआई ने कहा कि कानूनी प्रावधानों के मुताबिक, एसबीआई यस बैंक के 49 फीसदी शेयर खरीद सकती है.

मालूम हो कि यस बैंक देश का चौथा सबसे बड़ा निजी बैंक है. संकट से उबारने के लिए रिजर्व बैंक ने एक महीने के लिए बैंक से 50,000 रुपये से ज्यादा रकम निकालने पर रोक लगा दी गई है. इससे एटीएम पर पैसा निकालने वालों की लंबी कतार लग गई है. लोगों को अपनी जमा राशि को लेकर चिंता सता रही है.

रजनीश कुमार ने आगे कहा, एसबीआई यस बैंक में 2450 करोड़ का निवेश कर सकती है. हमारी लीगल टीम निवेश की योजना पर काम कर रही है. हमने स्टॉक एक्सचेंज को इस बारे में बता दिया है कि एसबीआई 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने पर विचार कर रही है. हालांकि अंतिम फैसला एसबीआई बोर्ड का होगा.

राजनीश कुमार ने भी आश्वासन दिया कि यस बैंक के खाताधरकों का पैसा सुरक्षित है. रजनीश कुमार ने कहा कि कुछ दिनों की बात है. इसके बाद सब कुछ ठीक हो जाएगा. जो लोग एसबीआई में निवेश करना चाहते हैं उनके लिए यह एक बेहतर मौका है. रजनीश कुमार ने कहा कि उनकी कोशिश है कि निवेश योजना को रिजर्व बैंक की समय सीमा से पहले ही पास करा लिया जाए. रजनीश कुमार ने SBI के निवेश योजना को विस्तार से बताते हुए कहा कि निवेश प्लान पर विचार करने के बाद हम 9 मार्च को एक बार फिर से रिजर्व बैंक के पास जाएंगे. उन्होंने कहा एसबीआई ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को बता दिया है कि एसबीआई बोर्ड यस बैंक में निवेश को सैद्धांतिक मंजूरी दे चुका है.

यस बैंक संकट पर चिदंबरम ने साधा सरकार पर निशाना, कहा- NDA राज में 4 गुना लोन, नोटबंदी ने बिगाड़े हालात