Gujarat Exclusive > राजनीति > जनता तय करेगी कि उसे बड़ा-छोटा भाई चाहिए या त्रिमूर्ति: सिंधिया

जनता तय करेगी कि उसे बड़ा-छोटा भाई चाहिए या त्रिमूर्ति: सिंधिया

0
446

मध्य प्रदेश में एकबार फिर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं. 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस अपना दम-खम दिखाने की कोशिश में हैं. इस बीच भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उपचुनावों को लेकर एक अहम बयान दिया है.

सिंधिया ने कहा कि वाला उपचुनाव मध्य प्रदेश का भविष्य़ तय करेगा और जनता तय करेगी कि उसे कौन चाहिए बड़ा-छोटा भाई या त्रिमूर्ति.
राज्यसभा सदस्य सिंधिया ने अपना गढ़ माने जाने वाले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में भाजपा के तीन दिवसीय सदस्यता अभियान के अंतिम दिन ग्वालियर में कहा, ‘‘आने वाला उपचुनाव न्याय और सम्मान का है और जो व्यक्ति जनता के बीच नहीं रहता, उसे वोट मांगने का कोई हक नहीं है.
आने वाला चुनाव मध्य प्रदेश का भविष्य तय करेगा.”

यह भी पढ़ें: गुजरात में संपत्ति टैक्स पर छूट, 31 अगस्त तक भुगतान करने पर 20% की रियायत

भाजपा नेता ने आगे कहा, ‘‘जनता तय करेगी कि बड़ा-छोटा भाई (कमलनाथ-दिग्विजय सिंह) या फिर त्रिमूर्ति (मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर व ज्योतिरादित्य सिंधिया) चाहिए.”
पूर्व केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री चौहान ने गोहद (भिण्ड जिले का विधानसभा क्षेत्र) के लिए तुरंत 110 करोड़ रुपए की योजना स्वीकृत कर दी.
वहीं कमलनाथ (अपनी तत्कालीन सरकार के दौरान) धन की कमी का रोना रोते थे.” पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने सवाल किया, ‘‘अब यह धन कहां से आ गया?”

सिंधिया ने कहा कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद 15 वर्ष बाद जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो उसमें ग्वालियर-चंबल का बहुत योगदान था. पहली बार 34 में से 26 सीटें कांग्रेस को मिली. लेकिन 15 महीनों में क्या हुआ, सबने देखा. उन्होंने कहा कि हमारा कुर्सी या पद से मोह नहीं है, लेकिन न्याय, सम्मान और विकास की बात होनी चाहिए. वादाखिलाफी और नाइंसाफी होने पर हम (सिंधिया एवं बागी कांग्रेस विधायक) झंडा लेकर सड़क पर आए. मुख्यमंत्री चौहान की जमकर तारीफ करते हुए सिंधिया ने कहा, ‘‘वह (चौहान) 13 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहे. यह आसान काम नहीं है. यह तभी हो सकता है जब जनता दिलों में स्थान दे.”

कांग्रेस ने सिंधिया को घेरा

कांग्रेस अब भारतीय जनता पार्टी और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को बयान व सदस्यता कार्यक्रम के आयोजन को लेकर घेरने के लिए मैदान में उतरी है.

सोमवार को विधायक एवं पूर्व मंत्री लाखन सिंह ने पार्टी दफ्तर पर प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि श्री सिंधिया 3 दिन से कह रहे कि ग्वालियर चंबल संभाग में मेरी वजह से 26 सीटें कांग्रेस को मिली थीं, तो वे ये भी बताएं कि 2003, 2008 और 2013 में उनके चेहरे पर पार्टी को इतनी सीटें क्यों नहीं मिली थीं?


एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस सरकार में भ्रष्टाचार था तो उनके समर्थक 6 मंत्री क्या कर रहे थे?
फिर खुद उनके ही समर्थक रणवीर जाटव ने उस वक्त के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट पर और कार्यकर्ताओं की शिकायत के कारण गोविंद राजपूत ही भ्रष्टाचार की सुर्खियों में रहे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

राहुल का मोदी सरकार पर तंज, 1 नौकरी, एक हजार बेरोजगार, क्‍या कर दिया देश का हाल