Gujarat Exclusive > राजनीति > CAA/NRC के बाद 8 करोड़ लोगों को भूलना चिंता की बात: शशि थरूर

CAA/NRC के बाद 8 करोड़ लोगों को भूलना चिंता की बात: शशि थरूर

0
496

अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास के दौरान पीएम मोदी के भाषण पर कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने सवाल उठाए हैं. थरूर ने कहा है कि पीएम द्वारा CAA/NRC के बाद 8 करोड़ लोगों को भूल जाना चिंता का विषय है.

शशि थरूर ने कहा कि राम मंदिर भूमि पूजन के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 130 करोड़ भारतीयों का जिक्र किया जबकि भारत की जनसंख्या 138 करोड़ से अधिक है और संशोधित नागरिकता कानून तथा राष्ट्रीय नागरिक पंजी के बाद आठ करोड़ लोगों को भूलना चिंता की बात है.

यह भी पढ़ें: विवाद बढ़ने के बाद क्वारंटाइन किए गए IPS विनय तिवारी को BMC ने छोड़ा

उन्होंने कहा कि अगर ‘‘चूक” अनजाने में हुई तो ‘‘सुधार करने से आश्वासन” मिलेगा.

थरूर ने ट्वीट किया, ‘‘राम मंदिर के बारे में बात करते हुए कल प्रधानमंत्री मोदी ने 130 करोड़ भारतीयों को बधाई दी.
लेकिन संयुक्त राष्ट्र के आंकड़े के अनुसार 2020 के मध्य तक भारत की अनुमानित जनसंख्या 1,38,00,04,385 है.”

 

उन्होंने कहा, ‘‘ सीएए/एनआरसी के बाद आठ करोड़ लोगों को भूल जाना चिंता का विषय है.
अगर यह अनजाने में हुआ है तो सुधार करने से आश्वासन मिलेगा.”

बुधवार को हुआ था शिलान्यास

मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राम मंदिर के शिलान्यास की नींव रखी.
इस दौरान उन्होंने विधिवत भूमि पूजन में भी हिस्सा लिया.

शिलान्यास के बाद अपने भाषण में पीएम मोदी मोदी ने कहा था कि कई पीढ़ियों ने दशकों तक राम मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष किया.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश के 130 करोड़ लोगों की ओर से उनके उस बलिदान के लिए उन्हें नमन करता हूं , जिससे राम मंदिर की नींव रखने का मार्ग प्रशस्त हुआ.”

मालूम हो कि राम मंदिर के शिलान्यास के मौके पर 175 विशिष्ट अतिथियों को बुलाया गया था.

इसमें सभी धर्मों के गुरुओं को आमंत्रित किया गया.
पीएम मोदी के अलावा बाबा रामदेव और यूपी के सीएम योगी और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी हिस्सा लिया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें