Gujarat Exclusive > राजनीति > छत्रपति शिवाजी के नाम पर कंगना को हरामखोर कहना शिवसेना की नीचता: संजय निरुपम

छत्रपति शिवाजी के नाम पर कंगना को हरामखोर कहना शिवसेना की नीचता: संजय निरुपम

0
864
  • बदजुबानी पर आमने-सामने कंगना रनौत और संजय राउत
  • अपने ही सहयोगी पार्टी पर निरुपम ने खड़ा किया सवाल
  • सरेआम गाली-गलौज करना महाराज का है अपमान- संजय निरुपम 

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर संजय राउत ने विवादास्पद टिप्पणी की थी. इस मामले के बाद सियासी बयानबाजी तेज हो गई है.

महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने कंगना के बयान का विरोध करते हुए अपने ही सहयोगी पार्टी को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है.

निरुपम ने शिवसेना पर हमला बोलते हुए कहा कि शिवसेना पर छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान कर रही है.

ट्वीट कर संजय निरुपम ने बोला हमला

उन्होंने इस मामले को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा “कंगना रनावत ने मुंबई पर जो टिप्पणी की, वह हम सबको अमान्य है. उसकी सबने निंदा की.

मगर शिवसेना ने छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम लेकर कंगना को हरामखोर कहा, यह शिवसेना की नीचता है.

उनके नाम पर सरेआम गाली-गलौज करना महाराज का अपमान है. सरकार में बैठे लोगों को इस आचरण की निंदा करनी चाहिए.”

मुंबई को लेकर कंगना ने दिया था विवादित बयान

गौरतलब है कि बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कंगना रनौत और महाराष्ट्र के नेताओं के बीच जारी जुबानी जंग अब गहराता जा रहा है. बीते दिनों कंगना ने मुंबई की तुलना तालिबान शासित पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर से किया था.

जिसके बाद यह मामला बढ़ गया था. महाराष्‍ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि यदि कंगना यहां असुरक्षित महसूस करती हैं तो उन्‍हें यहां पर रुकने का कोई अधिकार नहीं है.

वहीं इस मामले को लेकर संजय राउत ने बदजुबानी करते हुए कंगना को ‘हरामखोर लड़की’करार दिया था.

यह भी पढ़ें: बदजुबानी पर एक बार फिर से कंगना रनौत और संजय राउत आमने-सामने

आमने-सामने आए थे संजय निरुपम और कंगना रनौत

मामला तूल पकड़ने कुछ लोग कंगना रनौत के समर्थन में उतर गए हैं. लेकिन इस बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर वह पहले महाराष्ट्र से माफी मांगती हैं तो मैं सोचूंगा.

इतना ही नहीं राउत अब इस मामले को मराठी मानूष से हटाकर धार्मिक रंग भी देने की कोशिश कर रहे हैं. उनके अनुसार मुंबई यानी मुंब्रा देवी के बारे में ऐसी बात कही है.

दरअसल शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना रनौत पर मुंबई पुलिस का अपमान करने का आरोप लगाते हुए उन्हें मुंबई वापस न लौटने की सलाह दी थी.

इस पर कंगना रनौत ने कहा था कि मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसा क्यों महसूस हो रही है.

इस कमेंट को लेकर कंगना की आम जनता से लेकर बॉलीवुड सितारों ने भी आलोचना किया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना मरीज के साथ एंबुलेंस ड्राइवर ने किया बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार