Gujarat Exclusive > राजनीति > कंगना से जारी जुबानी जंग के बीच, शिवसेना ने संजय राउत को बनाया पार्टी का मुख्य प्रवक्ता

कंगना से जारी जुबानी जंग के बीच, शिवसेना ने संजय राउत को बनाया पार्टी का मुख्य प्रवक्ता

0
535
  • अभिनेत्री कंगना रनौत से जारी जुबानी जंग के बीच संजय राउत को मिला प्रमोशन
  • पार्टी ने संजय राउत को बनाया मुख्य प्रवक्ता
  • कंगना को हरामखोर कहने पर संजय की हो चुकी है आलोचना

भारत की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई इन दिनों एक बार फिर से सुर्खियों में है.

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना नेताओं के बीच जारी जुबानी जंग के बीच शिवसेना ने संजय राउत को पार्टी का मुख्य प्रवक्ता बना दिया है.

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राउत को पार्टी का मुख्य प्रवक्ता नियुक्त किया है.

कंगना से जारी विवाद के बीच आज पार्टी के मुखपत्र सामने में उनके नियुक्ती की जानकारी दी गई.

संजय राउत को बनाया गया पार्टी का मुख्य प्रवक्ता

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत के अलावा पार्टी ने अन्य 10 नेताओं को प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया है.जिसमें सांसद अरविंद सावंत, कांग्रेस को छोड़कर शिवसेना में जाने वाली प्रियंका चतुर्वेदी, धीरशिल माने, महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब, उदय सामंत और गुलाबराव पाटिल, शिवसेना विधायक नीलम गोरे, प्रताप सरनाईक और सुनील प्रभु का नाम शामिल है.

बीएमसी के मेयर किशोरी पेडणेकर को भी पार्टी ने प्रवक्ता नियुक्त किया है.

यह भी पढ़ें: कंगना के ऑफिस पहुंचे BMC के लोग, एक्ट्रेस ने लिखा- लगता है सपना टूटने वाला है

कंगना से जारी जुबानी जंग के बीच राउत को मिला प्रमोशन

गौरतलब है कि बीते दिनों अभिनेत्री कंगना रनौत को हरामखोर कहने के बाद संजय राउत की जमकर आलोचना हुई थी. जिसके बाद उन्होंने सफाई देते हुए कहा था कि महाराष्ट्र में इसका दूसरा मतलब होता है.

यहां पर इसका मतलब नॉटी और बेईमान होता है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा था कि अगर कंगना मुंबई के लोगों से माफी मांग लेती है तो वह माफी मांगने की सोचेंगे.

क्यों चर्चा में हैं कंगना

दरअसल शिवसेना लीडर संजय राउत के साथ कंगना की तीखी बयानबाजी हुई थी. कंगना ने बीते दिनों मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) से कर दिया था इतना ही नहीं उन्होंने कहा था कि उन्हें मुंबई पुलिस से सुरक्षा नहीं बल्कि डर लगता है.

उनके इस बयान के बाद कंगना के खिलाफ शिवसेना ने हमला बोल दिया था. संजय राउत ने उन्हे मुंबई वापस नहीं आने की नसीहत दी थी तो वहीं गृहमंत्री ने कहा था कि अगर उनको मुंबई में डर लगता है वह यहां ना आएं.

कंगना और शिवसेना के बीच बढ़ने वाले विवाद को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार ने उन्हे वाई श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बदजुबानी पर एक बार फिर से कंगना रनौत और संजय राउत आमने-सामने