Gujarat Exclusive > राजनीति > मध्‍य प्रदेश में सियासी भूचाल के बीच बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मिले शिवराज सिंह

मध्‍य प्रदेश में सियासी भूचाल के बीच बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मिले शिवराज सिंह

0
591

मध्‍य प्रदेश में राजनीतिक भूचाल मचा हुआ है. इसी बीच बुधवार को पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की. इससे पहले खबर आई थी कि मानेसर स्‍थित ITC मौर्या होटल में मौजूद कांग्रेस और उसके सहयोगी विधायकों को कर्नाटक के एक रिजॉर्ट में ले जाया जा सकता है.

एक दिन पहले गुरुग्राम के मानेसर में विधायकों के होने की सूचना पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, जीतू पटवारी और जयवर्धन सिंह वहां पहुंच गए थे और खबर आई थी कि वे चारों विधायकों को छुड़ा भी ले गए थे. इस दौरान पुलिस के साथ उनकी झड़प भी हुई थी. हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि वे केवल विधायक राम बाई को ही वहां से ले जा सके. इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बुधवार को दिल्‍ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने से अटकलों का बाजार गर्म हो गया है.

खबरों के मुताबिक मंगलवार रात कांग्रेस के आठ विधायक बीजेपी नेताओं के साथ दिल्ली पहुंचे थे. इस दौरान शिवराज सिंह चौहान भी दिल्ली पहुंचे थे. विधायकों को छुड़ाने के मिशन पर कमलनाथ के चार मंत्री को दिल्ली रवाना हुए. विधायकों की छुड़ाने की कोशिश में जमकर ड्रामा हुआ था. बीजेपी नेताओं ने होटल में पुलिस बुला ली थी. देर रात इस ड्रामे में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की एंट्री हुई. रात 2 बजे बीजेपी और कांग्रेस के बीच चली विधायकों की छीनाझपटी में बीएसपी विधायक राम बाई कांग्रेस नेताओं के साथ रवाना हो गईं.

मध्‍य प्रदेश विधानसभा में अभी 228 सदस्य हैं. दो विधायकों के निधन से दो सीटें खाली हैं. अभी कांग्रेस के पास 114, बीजेपी के पास 107 विधायक हैं. दो विधायक बसपा के तो एक विधायक सपा का है. विधानसभा में चार निर्दलीय विधायक भी हैं. मंत्री पद न मिलने से आदिवासी विधायक बिसाहुलाल साहू और अन्‍य विधायक नाराज हैं. बीजेपी की इन विधायकों पर नजर है. हालांकि कांग्रेस ने समय रहते सावधानी बरती और चार विधायकों को रिजॉर्ट से निकाल पाने में सफल हुई है.