Gujarat Exclusive > यूथ > UAE में IPL के आयोजन पर शोएब को लगी मिर्ची, अख्तर ने उखाड़े गड़े मुर्दे

UAE में IPL के आयोजन पर शोएब को लगी मिर्ची, अख्तर ने उखाड़े गड़े मुर्दे

0
1122

पाकिस्तान के पूर्व झाकड़ तेज गेंदबाज शोएब अख्तर जब से क्रिकेट से दूर हुए हैं तब से वह अपनी जुबानी हमलों के कारण सुर्खियां बटोर रहे हैं. अक्सर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में रहने वाले शोएब अख्तर ने बीसीसीआई को निशाने पर लिया है. टी-20 वर्ल्ड कर क्या स्थगित हुआ कि शोएब बुरी तह चिढ़ गए और पुराने गड़े मुर्दे भी खोदने शुरू कर दिए. एक टीवी शो की बहस में शोएब कि बीसीसीआई विश्व कप नहीं होना देना चाहता क्योंकि उनका मानना है, वर्ल्ड कप जाए भाड़ में, लेकिन आईपील को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए.

कोरोना वायरस के कारण एशिया कप और टी-20 वर्ल्ड कप के रद्द होने पर अख्तर ने कहा कि विश्व कप कार्यक्रम के अनुसार हो सकता था और एशिया कप तो निश्चित तौर पर हो सकता थे. अगर भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे के खिलाफ खेलते, तो यह शानदार बात होती. इसके पीछे कई कारण हैं और मैं इसमें नही जाना चाहता.

यह भी पढ़ें: देश में बेलगाम हुआ कोरोना, बीते 24 घंटों में दर्ज हुए 45 हजार से ज्यादा नए मामले

जियो क्रिकेट के यूट्यूब चैनल पर एक बहस में शोएब ने कहा कि टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन भी हो सकता था, लेकिन मैं पहले ही कह चुका था कि ‘वे’ इसका आयोजन नहीं होने देंगे. वर्ल्ड कप जाए भाड़ में, लेकिन आईपील को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए.  इस बहस में शोएब के अलावा पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर राशिद लतीफ भी मौजूद थे.

अख्तर ने उखाड़े गड़े मुद्रे

शोएब अख्तर ने कहा है कि यह बीसीसीआई के प्रभाव का असर ही था जिसने हरभजन को एंड्यू सॉयमंड्स के साथ हुए विवाद में ऑफ स्पिनर को बचाने में मदद की. अख्तर ने कहा कि कभी-कभी भारत को मेलबर्न में आसान पिच मिल जाती है, तो कभी किसी को मंकी कह देता है, लेकिन बच जाता है, बात सीरीज के बॉयकॉट तक चली जाती है. मैं ऑस्ट्रेलियन्स से पूछ रहा हूं कि उनके नैतिक मूल्य कहां है?

मंकी गेट विवाद पर क्या बोले

मालूम हो कि अख्तर साल 2008 की उस घटना का हवाला दे रहे थे, जब हरभजन ने कंगारू ऑलराउंडर एंड्यू सॉयमंड्स पर तंज कसा था. यह घटना सिडनी में खेले गए दूसरे टेस्ट में हुई थी. तब उस घटना को मंकी गेट नाम दिया गया था.

शोएब ने कहा कि इतना सब होने के बावजूद भज्जी बचकर निकल गए. भारत ने सीरीज के बहिष्कार की धमकी दी, तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई. क्या यही आपके नैतिक मूल्य हैं. क्या आपको माक्रोफोन की आवाज नहीं सुनी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

सुप्रीम कोर्ट से पायलट गुट को बड़ी राहत, कल राजस्थान हाईकोर्ट सुनाएगा फैसला