Gujarat Exclusive > गुजरात > श्रेय अस्पताल आग, गुजरात में पहली बार कोरोना मरीजों का होगा पोस्टमॉर्टम

श्रेय अस्पताल आग, गुजरात में पहली बार कोरोना मरीजों का होगा पोस्टमॉर्टम

0
1249

अहमदाबाद: गुजरात में पहली बार कोरोना मरीजों का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा. सिविल अस्पताल के अधिकारियों ने दावा किया है कि यह अहमदाबाद में पहली बार ऐसा हो रहा है.

अहमदाबाद के नवरंगपुरा इलाके के श्रेय अस्पताल में बुधवार देर रात आग लगने से कोरोना के आठ मरीजों की मौत हो गई. कोरोना मरीजों का पोस्टमॉर्टम नहीं किया जाता है.

उनके शवों को सीधे अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया जाता है. लेकिन इलाज कराने वाले 8 मरीजों का पोस्टमॉर्टम करने के फैसले के बाद अलग-अलग तरीके की चर्चा तेज हो गई है.

अहमदाबाद में पहली बार होगा कोरोना मरीजों का पोस्टमॉर्टम

कोविड अस्पताल, सिविल कंपाउंड के ऑफिसर ओन स्पेशल ड्यूटी डॉ. एम.एम. प्रभाकर ने कहा, “विदेशी में कोरोना के मरीजों का पोस्टमॉर्टम किया जाता है.

लेकिन भारत में कोरोना मरीजों का पोस्टमॉर्टम नहीं किया जाता. भले ही ये कोरोना मरीजे थे लेकिन इनका पोस्टमॉर्टम किया जाएगा क्योंकि इन लोगों की आकस्मिक मृत्यु हुई है.

पीपीई किट सहित सुरक्षा उपकरणों के साथ पोस्टमॉर्टम की जायेगी. अहमदाबाद में पहली बार किसी कोरोना मरीज का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: अहमदाबाद के श्रेय अस्पताल में देर रात लगी आग, 8 मरीजों की मौत

अन्य मरीजों को एसवीपी अस्पताल में कराया गया भर्ती 

नवरंगपुरा के श्रेय अस्पताल में देर रात करीब 3.30 बजे आग लग गई. जिसकी वजह से अस्पताल में इलाज करवा रहे कुल 8 मरीजों की मौत हो गई है. मृतकों की पहचान अरविंद भावसार, नवीनलाल शाह, लीलावती शाह, आयशा तिरमीश, मनुभाई रामी, ज्योति सिंधी, नरेंद्र शाह और आरिफ मंसूरी के रूप में हुई है.

आग की घटना के बाद अस्पताल में इलाज कराने वाले अन्य मरीजों को फौरन एसवीपी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है.

इन मृतकों के शवों के पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल के पोस्टमॉर्टम कमरे में भेज दिए गए हैं.

मामले की गंभीरत को देखते हुए सीएम रुपाणी ने दो आईएएस अधिकारियों को मामले की जांच की जिम्मेदारी दी है और तीन दिन के अंदर जांच रिपोर्ट को पेश करने का निर्देश दिया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद श्रेय अस्पताल आग, CM रुपाणी ने मृतकों के परिजनों को दिया मुआवजा