Gujarat Exclusive > देश-विदेश > केंद्रीय मंत्री के बयान से भड़का सिख संस्था, कहा- किसानों को देशद्रोही बताने की कोशिश

केंद्रीय मंत्री के बयान से भड़का सिख संस्था, कहा- किसानों को देशद्रोही बताने की कोशिश

0
524

बीते दिनों केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने एक बयान दिया था कि जो आंदोलन चल रहा है वह किसानों का नहीं है बल्कि इसके पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है.

उनके इस बयान पर शिवसेना के बाद एक बड़ी सिख संस्था ने कड़ा एतराज जताया है.

दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट समिति ने दानवे के बयान को अपमानजनक बताते हुए कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों को राष्ट्रद्रोही बताया जा रहा है.

किसानों को देशद्रोही बताने की कोशिश

दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट समिति के अध्यक्ष एस मजिंदर सिंह सिरसा ने एक वीडियो संदेश जारी कर रहा कि किसान जो न्याय के लिए लड़ रहे हैं. Sikh institution angry

उनको ‘राष्ट्रद्रोही’ और ‘अराजक’ बताया जा रहा है. जो किसान देश का पेट भरने के लिए अपने खेतों में फसल उगाते हैं, किसानों के बच्चे देश की सुरक्षा के लिए शहीद हो जाते हैं.

ऐसे किसानों को आज चीन और पाकिस्तान से जोड़कर उनको देशद्रोही बताने की कोशिश की जा रही है.

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि इससे पहले भी कई भाजपा नेता और प्रवक्ता इसी तरीके का बयान दे चुके हैं.

केंद्रीय मंत्री ने क्या कहा Sikh institution angry

महाराष्ट्र के जालना जिले के बदनपुर तालुका के कोलते ताकली में एक स्वास्थ्य केंद्र के उद्घाटन पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने कहा कि इससे पहले मुसलमानों CAA और NRC के मामले पर गुमराह किया जा रहा था. Sikh institution angry

लेकिन अब किसानों को बताया जा रहा था कि नए कानून की वजह से उनको भारी नुकसान का सामना करना पड़गा.

इतना ही नहीं दानवे ने दावा करते हुए कहा कि जो आंदोलन चल रहा है वह किसानों का नहीं है बल्कि इसके पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है.

इससे पहले भी मोदी के मंत्री दे चुके हैं विवादित बयान Sikh institution angry

बीते दिनों मोदी सरकार के एक और मंत्री का विवादित बयान सामने आया था. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने तीनों कृषि कानूनों का समर्थन करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि देश के असली किसान पीएम मोदी के इस फैसले के साथ हैं और वह अपने खेतों में काम कर रहे हैं. Sikh institution angry

इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस बिल से किसान को आज़ादी मिली है. इतने साल से किसान संघ सही मूल्य के लिए आंदोलन करते आए हैं.

देश के असली किसानों को इस कानून से कोई परेशानी नहीं वह अपने खत में काम कर रहे हैं. Sikh institution angry

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

किसान आंदोलन: केंद्रीय मंत्री का दावा पड़ोसी देश का हाथ, शिवसेना ने कहा- फौरन हो सर्जिकल स्ट्राइक