Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार: भाजपा से जुड़े कई दलों के नेता, लालू के करीबी सीताराम ने भी छोड़ा आरजेडी

बिहार: भाजपा से जुड़े कई दलों के नेता, लालू के करीबी सीताराम ने भी छोड़ा आरजेडी

0
179

Sitaram Yadav joins BJP: बिहार (Bihar) चुनाव खत्म हुए महीनों बीत गए हैं लेकिन प्रदेश की राजनीति में अभी भी उछल-पुछल जारी है. बुधवार को बीजेपी प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में आरजेडी के पूर्व सांसद और लालू यादव के बेहद करीबी रहे सीताराम यादव (Sitaram Yadav) समेत आरजेडी के कई नेता बीजेपी का दामन थाम लिया.

पूर्व सांसद सीताराम यादव (Sitaram Yadav), पूर्व विधान पार्षद दिलीप कुमार यादव सहित विभिन्न दलों के कई नेताओं ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रभारी भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की.

यह भी पढ़ें: ट्रैक्टर रैली हिंसा मामले में योगेंद्र यादव समेत कई किसान नेताओं के खिलाफ केस दर्ज

इस मौके पर बिहार (Bihar) प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल सहित कई नेता मौजूद रहे. इस मिलन समारोह के दौरान भूपेंद्र यादव के अलावा राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी, बिहार प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जयसवाल और मंत्री रामसूरत राय मौजूद रहे.

कई नेताओं ने थामा भाजपा का दामन

भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में आरजेडी के पूर्व सांसद और लालू यादव के बेहद करीबी रहे सीताराम यादव (Sitaram Yadav) समेत आरजेडी के कई नेताओं ने बीजेपी की सदस्यता हासिल की. इसके अलावा आरजेडी के पूर्व विधायक सुबोध पासवान, नगीना देवी, रामजी मांझी और दिलीप कुमार यादव ने भी अपने समर्थकों के साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण की.

सीताराम यादव (Sitaram Yadav) के अलावा कांग्रेस की अनीता देवी, पटना की उपमहापौर मीरा देवी भी बीजेपी में शामिल हो गई. इस मिलन समारोह में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह, युवा रालोसपा के महासचिव रोशन कुशवाहा सहित कई नेता भी बीजेपी में शमिल हुए.

क्या बोले भूपेंद्र यादव

इस दौरान भूपेंद्र यादव ने कहा कि अगर आरजेडी, कांग्रेस सहित अन्य दलों के नेता उन्हें छोड़कर बीजेपी के साथ जा रहे हैं तो इसका सीधा मतलब है कि उनका अपने नेतृत्व की कार्यशैली पर भरोसा नहीं है. उन्हें भरोसेमंद नेतृत्व चाहिए, जो बीजेपी देश को दे रही है. नीति, नीयत व नेतृत्व विहीन दलों से लोगों का मोहभंग होना स्वाभाविक है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें