Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर कांग्रेस में रार, सिंघवी और थरूर आए आमने-सामने

ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर कांग्रेस में रार, सिंघवी और थरूर आए आमने-सामने

0
249

दिल्‍ली विधानसभा चुनाव 2020 में मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस में शुरू हुई आपसी रार अभी खत्म भी नहीं हुई थी कि कांग्रेस के दो बड़े दिग्‍गज एक बार फिर आमने-सामने आ गए. मसला ब्रिटेन की सांसद डेब्बी अब्राहम को भारत से वापस भेजे जाने का है जिन्हें वीजा समस्याओं की वजह से वापस जाना पड़ा.

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने मोदी सरकार के इस कदम का स्‍वागत किया तो शशि थरूर ने लोकतंत्र का हवाला देते हुए इसका विरोध किया. डेब्‍बी अब्राहम जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को वापस लेने के भारत के कदम की आलोचक रही थी.

 

सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, ‘डेब्बी अब्राहम को भारत द्वारा डिपोर्ट करना जरूरी था. वह एक सांसद के तौर पर नहीं, बल्कि पाकिस्तान का छद्म रूप बनकर आ रही थीं. पाकिस्तान और आईएसआई से उनकी करीबी जगजाहिर है. भारत की एकता और अखंडता पर होने वाले हर हमले को नाकाम करना चाहिए.’

वहीं कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस मामले में भारत सरकार पर सवाल खड़े करते हुए ट्वीट किया, ‘ब्रिटिश सांसद, जिन्होंने जम्मू कश्मीर पर सरकार की आलोचना की, पर प्रतिक्रिया स्वरूप उन्हें हवाई अड्डे पर रोक दिया गया. यह आचरण एक लोकतंत्र के लिए वाकई अशोभनीय है.’

 

मालूम हो कि डेबी अब्राहम ने दावा किया था कि दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरने के बाद वैध वीजा होने पर भी उन्हें भारत से वापस लौटा दिया गया था. हालांकि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसका खंडन करते हुए कहा, उन्हें सूचना दे दी गई थी कि उनका ई-वीजा रद्द कर दिया गया है.