Gujarat Exclusive > गुजरात > स्टार्ट-अप रैंकिंग 2019: गुजरात लगातार दूसरी बार शीर्ष पर काबिज

स्टार्ट-अप रैंकिंग 2019: गुजरात लगातार दूसरी बार शीर्ष पर काबिज

0
418

उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग (Startup Ranking) रूपरेखा-2020 पर काम करना शुरू कर दिया है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने 2019 की रूपरेखा पर रैकिंग जारी की. केंद्र सरकार की स्टार्टअप रैंकिंग (Startup Ranking) में गुजरात इस साल भी नंबर वन पर बरकरार है. सभी राज्यों और एक संघ शासित प्रदेश दिल्ली के बीच से गुजरात का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा है.

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि विभाग इस बारे में भागीदार राज्यों और संघ शासित प्रदेशों द्वारा दिए गए ब्योरे पर गौर करेगा.

गुजरात के बाद बेहतर प्रदर्शन करने वाले राज्यों में बिहार, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान और चंडीगढ़ का स्थान रहा है. रैंकिंग (Startup Ranking) के पिछले 2018 के संस्करण में गुजरात का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा था. इसके अलावा कर्नाटक, केरल, ओडिशा और राजस्थान ने भी अच्छा प्रदर्शन किया था.

यह भी पढ़ें: JEE Main का रिजल्ट हुआ जारी, गुजरात के निसर्ग चड्‌ढा ने किया टॉप

वहीं आंकांक्षी लीडर श्रेणी में हरियाणा, झारखंड, पंजाब, तेलंगाना, उत्तराखंड और नगालैंड शामिल हैं. बिहार, महाराष्ट्र, ओडिशा और राजस्थान लीडर्स कैटेगरी में जबकि कर्नाटक और केरल स्टार्टअप (Startup Ranking) को बेहतर माहौल देने के मामले में टॉप परफॉर्मर कैटेगरी में शामिल किया है. संघ शासित राज्यों में बेस्ट परफॉर्मर्स कैटेगरी में अंडमान निकोबार दीप समूह रहा है.

इमर्जिंग स्टार्टअप में यूपी आगे

वहीं इमर्जिंग स्टार्टअप (Startup Ranking) इकोसिस्टम कैटेगरी में उत्तर प्रदेश और एस्पायरिंग लीडर्स कैटेगरी में हरियाणा, झारखंड, उत्तराखंड शामिल किए गए हैं. ये लगातार दूसरी रैंकिंग है जिनमें राज्यों की स्टार्टअप के लिए किए जा रहे इंतजामों के आधार पर उनकी रैकिंग की जाती है.
केंद्र सरकार के मुताबिक इस रैंकिंग का मकसद राज्यों में इनोवेशन क्षमता को विकसित करना है. इस रैंकिंग में 22 राज्यों और 3 केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया गया है. इस रैंकिंग में इमर्जिंग स्टार्टअप (Startup Ranking) इकोसिस्टम कैटेगरी में आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, मिजोरम, सिक्किम, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश शामिल है.

तीन P पर ध्यान

कुल मिलाकर 22 राज्यों और तीन संघ शासित प्रदेशों ने इस सर्वेक्षण में भाग लिया है. इस संदर्भ में पीयूष गोयल ने कहा कि स्टार्टअप के वित्तपोषण के मामले में ‘कोषों का कोष’ उनको समर्थन दे रहा है और कई सार्वजनिक उपक्रम स्टार्टअप के लिए समर्पित कोष बनाने के साथ आगे आ रहे हैं. उन्होंने स्टार्टअप को भी संदेश देते हुए कहा कि वह आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए तीन ‘पी’ – प्रोडक्ट (उत्पाद), प्रोसेस (प्रक्रिया), पीपुल (लोग) पर ध्यान दें.

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी और सोम प्रकाश ने दूसरे संस्करण की रैंकिंग (Startup Ranking) जारी की वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने रैंकिंग जारी करते हुए कहा कि ये देखकर खुशी होती है जिस हिसाब से केंद्र सरकार फंड देती है, उसी लाइन पर राज्यों के भीतर उनके विकास के लिए माहौल बनाया जाता है. उन्होंने निजी निवेशकों से भी इस क्षेत्र को फाइनेंस करने की अपील की.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें