Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद की आयशा जैसी सूरत की शबाना की कहानी, पति ने कहा- मर क्यों नहीं जाती

अहमदाबाद की आयशा जैसी सूरत की शबाना की कहानी, पति ने कहा- मर क्यों नहीं जाती

0
717

सूरत: पिछले महीने अहमदाबाद की आयशा नाम की एक युवती पति की प्रताड़ना से परेशान होकर साबरमती नदी में मौत की छलांग लगा दी थी. Story of Shabana like Ayesha

आत्महत्या करने से पहले आयशा ने अपने पति से बातचीत की थी. जिसमें उसका पति आरिफ ने आयशा को आत्महत्या के लिए उकसाया था.

आयशा की आत्महत्या ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. यह मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि सूरत से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है.

दूसरी शादी का विरोध करने पर पति ने कहा तू मर जा Story of Shabana like Ayesha

मिल रही जानकारी के अनुसार, सूरत के लालगेट इलाके में रहने वाली शबाना नाम की एक युवती को उसके पति ने छोड़कर दूसरी शादी कर ली है. शबाना का पति अब उसे मर जाने के लिए कह रहा है.

फिलहाल शबाना ने पति के खिलाफ मामला दर्ज करवाकर न्याय की मांग की है. मूल रूप से पश्चिम बंगाल की रहने वाली शबनम मलिक उर्फ ​​शबाना वर्तमान में नागोरीवाड, लालगेट में रहती है.

शबाना की शादी साढ़े 6 साल पहले नसीम मलिक से हुई थी और उनकी एक 4 साल की बेटी भी है. Story of Shabana like Ayesha

3 दिन पहले शबाना को पता चला कि नसीम ने अपने किसी रिश्तेदार से शादी कर ली है और उसे घर ले आया है.

पुलिस ने नहीं दर्ज की शिकायत

जब शबाना ने इसका विरोध किया तो उसके पति नसीम ने शबाना से कहा, “मैं तुम्हें नहीं चाहता.” तू मर जा ” तू अभी तक जिंदा कैसे है?” तुझे तो मर जाना चाहिए था.

अभी तक आत्महत्या नहीं की है? ” इतना ही नहीं नसीम के रिश्तेदार भी शबाना को परेशान कर रहे हैं. Story of Shabana like Ayesha

शबाना कहती है कि मुझे दूसरी आयशा नही बनना मैं अपनी बेटी के लिए जीना चाहता हूं.

इस मामले को लेकर शबाना ने लालगेट पुलिस स्टेशन में पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

जबकि लालगेट थाने के पीआई डाभी का कहना है कि शबाना ने पुलिस शिकायत दर्ज नहीं की है, बल्कि केवल आवेदन किया है.

वहीं नसीम ने पुलिस को बताया हम 4 शादियां कर सकते हैं दूसरी पत्नी को मैं रखने को तैयार हूं इसलिए इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए. Story of Shabana like Ayesha

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात: 5 साल में 327 डॉक्टर सरकारी खर्च पर शिक्षा पूरी करने के बाद विदेश चले गए