Gujarat Exclusive > गुजरात > सूरत: BJP विधायक हर्ष संघवी ने डॉक्टर- मेडिकल स्टाफ पर कामचोरी का लगाया आरोप

सूरत: BJP विधायक हर्ष संघवी ने डॉक्टर- मेडिकल स्टाफ पर कामचोरी का लगाया आरोप

0
224

सूरत: सूरत बीजेपी विधायक हर्ष संघवी ने शहर के मेडिकल स्टाफ और डॉक्टरों पर कोरोना महामारी के दौरान कामचोरी और लापरवाही का आरोप लगाया है. Surat BJP MLA charges

इतना ही नहीं जिम्मेदारी में लापरवाही दिखाने वाले मेडिकल स्टाप और डॉक्टरों को सबक सिखाने की भी धमकी दी है.

संघवी ने इससे पहले सूरत की कोरोना अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर भी सवाल उठा चुके हैं.

कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति खराब

गुजरात के साथ ही साथ सूरत की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है. सूरत में कोरोना की दूसरी लहर हर दिन भयावह होती जा रही है.

सूरत में कोरोना के बढ़ते आतंक का इस बात से लगाया जा सकता है कि शहर की ज्यादातर अस्पताल हाउसफुल हो चुके हैं. Surat BJP MLA charges

इतना ही नहीं मरीजों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस भी वक्त पर नहीं मिल रहा है. ऐसे में भाजपा नेता हर्ष संघवी ने डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ पर बड़ा और गंभीर आरोप लगाया है.

काम छोड़कर केबिन में आराम का लगाया आरोप Surat BJP MLA charges

हर्ष संघवी ने आरोप लगाया है कि कोविड अस्पतालों में काम करने वाले कई चिकित्सा कर्मचारी अपने काम में लापरवाही कर रहे है. Surat BJP MLA charges

हर्ष संघवी ने कहा कि ड्यूटी पर तैनात कई डॉक्टर अपना काम छोड़कर केबिन में आराम कर रहे हैं. इतना ही नहीं इस मौके पर संघवी ने कहा कि सूरत सिविल में कुछ डॉक्टर ओवरटाइम भी कर रहे हैं.

लेकिन ऐसे भी डॉक्टर हैं जो अपनी ड्यूटी के दौरान ओल्ड अस्पताल के अपने केबिन में आराम करते हैं.

लापरवाह डॉक्टर ध्यान में होने का दावा Surat BJP MLA charges

भाजपा विधायक सही तरीके से जिम्मेदारी अदा नहीं करने वाले डॉक्टरों को धमकी देते हुए कहा कि ” ऐसे करने वाले तमाम डॉक्टरों पर मेरी नजर है. सही समय पर सभी से हिसाब लिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में लापरवही करने वाले डॉक्टर समाज के दुश्मन हैं.

गौरतलब है कि हर्ष संघवी इससे पहले सूरत की कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर भी आवाज उठा चुके हैं. Surat BJP MLA charges

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना की वजह से सूरत की स्थिति खराब, समीक्षा के लिए पहुंची केंद्र की टीम