Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात के इतिहास का सबसे तेज फैसला, बलात्कार के आरोपी को सिर्फ 29 दिन में फांसी की सजा

गुजरात के इतिहास का सबसे तेज फैसला, बलात्कार के आरोपी को सिर्फ 29 दिन में फांसी की सजा

0
715

सूरत: गुजरात के इतिहास में सूरत की अदालत ने सबसे तेज फैसला सुनाया है. सूरत के पांडेसरा इलाके में ढाई साल की बच्ची पर अश्लील फिल्म देखने के बाद बलात्कार के आरोप में 29 दिन के भीतर मौत की सजा सुनाई गई है. 7 दिन में सुनवाई पूरी करने के बाद सोमवार को आरोपी को दोषी करार दिया गया. अदालत ने मंगलवार को अपना फैसला सुनाते हुए आरोपी को फांसी की सजा दी है.

पांडेसरा-वडोद में एक महीने पहले ढाई साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने और उसकी हत्या के आरोप में 38 वर्षीय आरोपी गुड्डू यादव को सोमवार को कोर्ट ने दोषी ठहराया और फैसला मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया था. कोर्ट में मुख्य जिला जिला सरकारी वकील नयन सुखड़वाला ने दलील देते हुए कहा कि आरोपी ने सिर्फ बच्ची की नहीं बल्कि भारत के भविष्य की हत्या की है. इसलिए आरोपी को सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए.

मुख्य जिला जिला सरकारी वकील नयन सुखड़वाला ने इस पूरे मामले को दुर्लभ से दुर्लभतम करार देते हुए कहा कि आरोपी को अधिकतम मौत की सजा दी जानी चाहिए. दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने आरोपी गुड्डू यादव को फांसी की सजा सुनाई है.

कस्टोडियल डेथ के मामले में गुजरात देश में पहले पायदान पर, जानिए वजह