Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में थम नहीं रहीं आग की घटनाएं, अब सूरत के दो इलाकों में दिखीं भड़की ज्वाला

गुजरात में थम नहीं रहीं आग की घटनाएं, अब सूरत के दो इलाकों में दिखीं भड़की ज्वाला

0
493

एक तरफ गुजरात में कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ राज्य में आग (Surat Fire) लगने की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. अहमदाबाद में पिराणा आग की ज्वाला अभी ठंढी भी नहीं पड़ी थी कि अब सूरत में आज एक साथ आग लगने (Surat Fire) की दो घटनाएं सामने आई हैं.

सूरत (Surat Fire) के जिन दो इलाकों में आग की खबरें सामने आई हैं, उनमें से एक बेस्ताना इलाके के एक कैमिकल फैक्टी के गोदाम में है. बता दें कि एक सप्ताह में किसी कैमिकल फैक्ट्री के गोदाम में आग लगने की यह दूसरी घटना है. वहीं दूसरी आग की घटना शहर (Surat Fire) के उधना इलाके में एक झुग्गी में हुई.

यह भी पढ़ें: पिराणा ब्लास्ट मामला में फैक्ट्री के मालिक पर NGT ने लगाया 5 करोड़ का जुर्माना

शुक्रवार की घटना में बेस्टाना क्षेत्र में गुरुकृपा इंडस्ट्रीज के कैमिकल फैक्ट्री के गोदाम में आग (Surat Fire) लग गई. आग इतनी गंभीर थी कि आस-पास के इलाकों में दहशत फैल गई और लोगों में अफरा-तफरी मच गई. गोदाम से भीषण विस्फोट की जानकारी मिली थी. एक अन्य घटना में झोपड़पट्टी से भी आग लगने की सूचना मिली. पता चला है कि झुग्गियों में आग पटाखों के फटने के कारण लगी.

पिपणज घटना में 12 लोगों की जान

मालूम हो कि इससे पहले शहर के पिपणज रोड पर मौजूद रेवाभाई और नानूभाई एस्टेट के साहिल एंटरप्राइज की एक कपड़ा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट की वजह से भीषण आग लग गई थी.  विस्फोट की वजह से फैक्ट्री की छत और दिवार गिर गई थी. इस हादसे में 12 लोगों की मौत हो गई थी. जबकि 10 से ज्यादा मजदूर घायल हो गए थे.

अब इस मामले में एनजीटी ने बड़ी कार्रवाई की है. एनजीटी ने फैक्ट्री मालिक पर 5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. इस मामले की जांच के लिए हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की 6 सदस्यीय जांच समिति बनाई गई है. एनजीटी ने सरकार को आदेश दिया है कि यदि मालिक जुर्माना की रकम जमा कराने में विफल रहा तो उसकी संपत्ति जब्त कर ली जाए.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें