Gujarat Exclusive > राजनीति > अपनों पर हमले के बजाए भाजपा पर Surgical Strike करने की जरूरत: सिब्बल

अपनों पर हमले के बजाए भाजपा पर Surgical Strike करने की जरूरत: सिब्बल

0
615

कांग्रेस के वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्‍बल (Kapil Sibal) के तेवर अभी भी गर्म ही नजर आ रहे हैं. पिछले कुछ दिनों से वह लगातार अपने ट्वीट के जरिए कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्‍व पर हमला बोलते रहे हैं. गुरुवार को भी उन्‍होंने एक और ट्वीट किया जिसमें कांग्रेस को नसीहत दी गई कि अपने पार्टी नेताओं पर हमला करने की जगह विपक्षी दलों पर सर्जिकल स्ट्राइकर (Surgical Strike) करें.

कपिल सिब्बल ने उत्तर प्रदेश की लखीमपुरी की जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने पर ये बयान दिया है.
उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रसाद को ‘आधिकारिक तौर पर निशाना बनाया जाना’ दुर्भाग्यपूर्ण है.

सर्जिकल स्ट्राइक की नसीहत

सिब्बल ने ट्वीट किया है, ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण है कि उत्तर प्रदेश में जितिन प्रसाद को आधिकारिक रूप से निशाना बनाया जा रहा है. कांग्रेस को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि बीजेपी को सर्जिकल स्ट्राइक से निशाना बनाने की जरूरत है.’’

यह भी पढ़ें: टिकटॉक की बढ़ी मुश्किलें, सीईओ केविन ने दिया इस्तीफा

उनके इस ट्वीट से परोक्ष रूप से सहमति जताते हुए कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने ट्वीट किया, ‘‘भविष्य ज्ञानी.’’

क्या है पूरा मामला

बुधवार को यूपी के लखीमपुर खीरी में जितिन प्रसाद के खिलाफ कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया था.
लखीमपुर खीरी जिला कांग्रेस कमिटी ने जितिन प्रसाद पर पार्टी विरोधी गतिविधियों मे शामिल होने का आरोप लगाते हुए मांग की कि उन्‍हें पार्टी से निकाल दिया जाए.
इस बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला और नगर अध्‍यक्ष की मौजूदगी में मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

खबरों के मुताबिक, लखीमपुरी खीरी कांग्रेस कमेटी ने पांच प्रस्ताव पारित किए हैं.
इनमें से एक में मांग की गई है कि जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की जाए.

सोनिया को पत्र लिखने पर हुआ था विवाद

मालूम हो कि सिब्बल, तिवारी और प्रसाद उन 23 नेताओं में शामिल हैं, जिन्होंने कांग्रेस के संगठन में व्यापक बदलाव, सामूहिक नेतृत्व और पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग को लेकर हाल ही में सोनिया गांधी को पत्र लिखा था. इसको लेकर बड़ा विवाद खड़ा हुआ था.

सोमवार को कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक में राहुल गांधी ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखने वाले नेताओं के खिलाफ तल्ख टिप्पणी की थी और इसे बीजेपी की साजिश तक बता दिया था.
#kapil sibal news

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी का तंज, सरकार की लापरवाही चिंताजनक