Gujarat Exclusive > राजनीति > सुशांत मामले पर शिवसेना का आरोप, बिहार चुनाव जीतने के लिए हो रही राजनीति

सुशांत मामले पर शिवसेना का आरोप, बिहार चुनाव जीतने के लिए हो रही राजनीति

0
479
  • सुशांत मामले पर शिवसेना ने लगाया गंभीर आरोप
  • बिहार के कुछ खास जातियों के वोट हथियाने के लिए हो रही है राजनीति
  • कंगना को मुंबई एक साजिश के तहत भेजा गया है
  • सीमा पर जारी तनाव को लेकर केंद्र सरकार पर तंज

बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की पहेली अभी भी एक पहेली बनी हुई है. हर दिन इस मौत के मामले में नए तार जुड़ रहे हैं.

इस बीच शिवसेना ने इस मौत के मामले को बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़ दिया है.

शिवसेना का कहना है कि एक खास जाति के लोगों का वोट हासिल करने के लिए सुशांत की मौत के साथ राजनीति की जा रही है.

सामना में लगाया गया गंभीर आरोप

शिवसेना ने शुक्रवार को अपने मुखपत्र ‘सामना’ में लिखा है कि सुशांत मामले को लेकर बिहार के एक खास जाति के लोगों का वोट हथियाने के लिए राजनीति की जा रही है.

इतना ही नहीं इस मामले को लेकर तंज सकते हुए लिखा गया कि अगर राजनीतिक खुजलाहट शांत हो गई हो तो नेता और मीडिया को अब देश की असल समस्याओं पर ध्यान देना चाहिए.

इतना ही नहीं आगे लिखा गया है कि इस मामले में अभी तक सीबीआई किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है और रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स के एक मामले में गिरफ्तार कर लिया गया.

कंगना को मुंबई एक साजिश के तहत भेजा गया है

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में एक बार फिर से कंगना पर बड़ा आरोप लगाते हुए लिखा गया कि वह योजना के तहत कड़ी सुरक्षा के बीच मुंबई पहुंच गई है.

इसलिए अब मीडिया और नेताओं को देश के राष्ट्रहित और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ ही साथ आम आदमियों से जुड़े मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

सीमा पर जारी तनाव को लेकर केंद्र सरकार पर तंज

सामना में चीन के साथ जारी तकरार पर भी तंज कसा गया सामना में लिखा गया कि चीनी सेना हमारी सीमा में घुस चुकी है. अब हम और किस लक्ष्मणरेखा के लांघने का इंतजार कर रहे हैं.

सीमा पर स्थिती आज भी तनावपूर्ण बनी हुई है. सीमा पर जितनी चिंताजनक स्थिति बनी हुई है उससे खराब देश की हालत है.

यह भी पढ़ें: उद्धव ठाकरे पर कंगना रनौत ने बोला हमला, कहा-सिर्फ एक वंशवाद का नमूना हो

शुरू हुई थी इस मामले को लेकर राजनीति

गौरतलब है कि जब इस मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को हरी झंडी दिखाई थी तभी से इस मामले को लेकर देश में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई थी.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला सामने आने के बाद महाराष्ट्र भाजपा नेता किरीट सोमैया ने राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख और पुलिस कमिश्नर से इस्तीफा की मांग की है.

उन्होंने कहा कि फैसले के बाद सुशांत के परिवार को न्याय मिलेगा लेकिन मुंबई पुलिस जांच में गड़बड़ी कर रही थी. इसलिए पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह और गृहमंत्री को फौरन अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

संजय राउत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

भाजपा नेता की इस मांग शिवसेना के सांसद और प्रवक्ता संजय राउत की कड़ी प्रतिक्रिया आई है. मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस मामले का सही तरीके से जांच कर रही थी.

अगर इस्तीफे की बात निकलेगी तो दिल्ली तक जाएगी. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कानून का राज चलता है. कितनी भी बड़ी या छोड़ी गलती हो कानून से बड़ा महाराष्ट्र में कोई नहीं.

कोर्ट के इस फैसले को राजनीतिक चश्मे से देखना गलत है. हमारी कानून व्यावस्था बेहतरीन है इस्तीफे की बात करना राज्य के गरीमा के खिलाफ है.

बिहार सीएम ने खुशी का किया इजहार

माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से बिहार सरकार की जीत हुई है. कोर्ट का फैसला आने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि बिहार से संवैधानिक प्रक्रिया के तहत काम किया है.

फैसला आने के बाद हमें उम्मीद है कि सुशांत के परिवार को न्याय मिलेगा इस फैसले से और पूरे मामले से राजनीतिक संबंध नहीं है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष का अजीबो-गरीब आरोप, खत्म हो चुका है कोरोना