Gujarat Exclusive > यूथ > सुशांत सिंह की विसरा रिपोर्ट AIIMS ने CBI को सौंपी, दावा- नहीं मिला जहर

सुशांत सिंह की विसरा रिपोर्ट AIIMS ने CBI को सौंपी, दावा- नहीं मिला जहर

0
141

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत (Sushant Singh Rajpoot) मामले में लम्बे समय बाद कोई अपडेट आई है. सुशांत की विसरा रिपोर्ट में भी कहा गया था उनकी शरीर में किसी तरह का रसायन या जहर नहीं पाया गया था. लेकिन सोमवार देर रात एम्स की फोरेंसिक टीम ने अपनी रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी हैं.

एम्स की टीम ने सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajpoot) की विसरा रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, टीम को विसरा में किसी तरह का जहर नहीं मिला है.

यह भी पढ़ें: पायल घोष ने बताया अपनी जान को खतरा, राज्यपाल से मांगी Y कैटेगरी की सिक्योरिटी

खबरों के मुताबिक, रिपोर्ट में सुशांत (Sushant Singh Rajpoot) की बॉडी का पोस्टमॉर्टम करने वाले मुंबई के कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट नहीं दी गई है. दरअसल, कूपर अस्पताल के डॉक्टर्स ने सुशांत की ऑटोप्सी की थी. बाद में इसके तरीके पर सवाल उठे थे. सुशांत के गले के निशान पर रिपोर्ट में कुछ भी नहीं बताया गया था. यहां तक की मौत की टाइमिंग का भी जिक्र नहीं था.

एम्स कर रही थी विसरा की जांच

सुशांत (Sushant Singh Rajpoot) के पिता की अपील के बाद सीबीआई ने अपनी जांच शुरू की थी और विसरा की जांच एम्स से कराने का फैसला किया था. मालूम हो कि सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच के लिए 21 अगस्त को डॉ. सुधीर गुप्ता की लीडरशिप में एम्स के पांच डॉक्टर्स की टीम बनाई गई थी. टीम 20 सितंबर को रिपोर्ट सौंपने वाली थी, लेकिन इसमें 8 दिन की देरी हो गई. एम्स ने एक्टर के 20% विसरा की जांच पर रिपोर्ट तैयार की है, क्योंकि मुंबई पुलिस ने सुशांत का 80% विसरा अपनी जांच में इस्तेमाल कर लिया था.

कयासों पर लगा पूर्णविराम

सुशांत (Sushant Singh Rajpoot) का शव 14 जून को अपने बांद्रा स्थित फ्लैट में पंखे से लटका मिला था. हालांकि सुशांत की मौत जहर देकर किए जाने के कयास लगाए जा रहे थे लेकिन अब इस रिपोर्ट के सामने आने से उन सभी कयासों पर पूर्णविराम लग गया है, जिसमें कहा जा रहा था कि सुशांत की हत्या जहर देकर हुई है. एम्स ने इस पर मुहर लगा दी है कि सुशांत कि मौत जहर से नहीं हुई है. इसमें किसी भी तरह का फाउल प्ले नहीं है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें