Gujarat Exclusive > राजनीति > सुशील मोदी को भाजपा ने बिहार से बनाया राज्यसभा उम्मीदवार

सुशील मोदी को भाजपा ने बिहार से बनाया राज्यसभा उम्मीदवार

0
240

बिहान विधानसभा चुनावों के बाद डिप्टी सीएम का पद गंवाने वाले भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) को अब राज्यसभा भेज की तैयारी शुरू हो गई है. भाजपा ने उन्हें (Sushil Modi) बिहार से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है. इस बात की जानकारी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने शुक्रवार को दी.

बता दें कि लोक जनशक्ति पार्टी नेता रामविलास पासवान के हाल में निधन के बाद बिहार की राज्यसभा सीट खाली हुई है. रामविलास पासवान के निधन के बाद खाली हुई राज्यसभा की सीट पर उपचुनाव होगा.

यह भी पढ़ें: किसानों ने सिंघु बॉर्डर पर डाला डेरा, कृषि मंत्री ने की आंदोलन खत्म करने की अपील

नई जिम्मेदारी दिए जाने की थी चर्चा

मालूम हो कि इस बार सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) को बिहार का डिप्टी सीएम नहीं बनाया गया था. तब से ही इस बात की चर्चा थी कि उन्हें पार्टी नई जिम्मेदारी दे सकती है. बीजेपी सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) का कद बढ़ाने की तैयारी में है. सुशील मोदी अब राज्यसभा के रास्ते केंद्र में जा सकते हैं, जहां उन्हें बड़ी जिम्मेदारी देने की चर्चाएं हैं.

हालांकि, इसी बात को लेकर कई बार सुशील मोदी (Sushil Modi) की पार्टी नेताओं की तरफ से आलोचना भी की जाती रही. सुशील मोदी पर ऐसा आरोप लगा कि उन्होंने कभी नीतीश कुमार के फैसले का पार्टी हित में भी विरोध नहीं किया. इतना ही नहीं, यहां तक आरोप लगा कि सुशील मोदी ने बिहार में नीतीश कुमार के सामने पार्टी का कद कभी बड़ा नहीं होने दिया.

दो बार उपमुख्यमंत्री रहे

गौरतलब है कि 2005 में बिहार चुनावों में एनडीए को बहुमत मिला था. तब नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने थे जबकि सुशील मोदी (Sushil Modi) को उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली थी. साथ में वित्त मंत्रालय और कई अन्य विभागों की जिम्मेदारी संभाली थी. 2010 में एनडीए की फिर जीत हुई और नीतीश सरकार में सुशील मोदी फिर उपमुख्यमंत्री बने.

बिहार विधानसभा में तू-तू मैं-मैं

उधर बिहार विधान सभा में पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) शुक्रवार को रोद्र रूप में दिखे. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) द्वारा लगाए गए आरोपों पर बोलते हुए नीतीश ने यहां तक कह डाला कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा हैं इसलिए सुनते रहे हैं. नीतीश पर तेजस्वी ने हत्या के एक मामले में आरोपी होने का स्टैम्प लगाया था, जबकि वो इस मामले में बरी हो चुके हैं.

नीतीश बीच बहस के दौरान तेजस्वी द्वारा लगाए गए आरोपों पर संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी द्वारा वस्तुस्थिति रखने के बाद फिर से दोहराने पर उठ खड़ हुए. इसके बाद उन्होंने गुस्से में कहा, “ये बकवास बोल रहा है अगर इसके आरोपों में दम हैं तो इसके ख़िलाफ़ जांच करवाइये और कारवाई होगी. ये झूठ बोल रहा हैं फिर नीतीश ने कहा कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा हैं इसलिए सुनते रहते हैं हम नहीं कुछ बोलते हैं.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें