Gujarat Exclusive > देश-विदेश > केरल विमान हादसा: कोझिकोड एयरपोर्ट सहित देश में हैं तीन टेबल टॉप रनवे

केरल विमान हादसा: कोझिकोड एयरपोर्ट सहित देश में हैं तीन टेबल टॉप रनवे

0
520

केरल में कोझिकोड एयरपोर्ट पर एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमान हादसे से हर कोई हैरान है. इस विमान हादसे के पीछे तेज बारिश के अलावा टेबल टॉप रनवे को वजह बताया जा रहा है.
माना जा रहा है कि टेबल टॉप रनवे की वजह से विमान को लैंडिंग के दौरान मुश्किल आई और इतना बड़ा हादसा हो गया.

देश में ऐसे तीन रनवे हैं जहां विमान की लैंडिंग करानी बहुत खतरनाक होती है.

यह भी पढ़ें: केरल विमान हादसा: अब तक 18 लोगों के मौत की पुष्टि

ऐसे रनवे पर विमानों को खराब मौसम में उतरने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

क्या होता है टेबल टॉप रनवे

टेबल टॉप रनवे पर दोनों तरफ खाली जगह और ऊपर समतल जमीन होती है.
ऐसे रनवे किसी पहाड़ी या फिर ऐसी कोई जगह जो नीचे से स्लोप वाली हो और उसके टॉप पर स्थित किसी एयरपोर्ट पर बनाए गए होते हैं.
इन रनवे पर लैंडिंग के लिए पायलट्स को खास ट्रेनिंग दी जाती है.
क्योंकि कहा जाता है कि लैंडिंग के वक्त ऐसे रनवे एक तरीके का भ्रम पैदा करते हैं.

देश में तीन टेबल टॉप रनवे

भारत में तीन जगहों पर टेबल टॉप रनवे हैं बनाए गए हैं.
इनमें से एक केरल का कालीकाट इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे है, जिस पर एयर इंडिया का विमान फिसला और इतना बड़ा हादसा हुआ.
ऐसा ही कर्नाटक के मंगलुरू एयरपोर्ट पर है. ये एयरपोर्ट भी काफी ऊंचाई पर स्थित है.

वहीं तीसरा एयरपोर्ट मिजोरम में है.

हादसे में पहले मिली थी चेतावनी

विमानन क्षेत्र के नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने पहले ही कोझिकोड एयरपोर्ट के रनवे को लेकर चेतावनी दी थी कि वहां कभी भी हादसा हो सकता है. डीजीसीए ने हाल फिलहाल में भी सवाल उठाए थे कि रनवे पर ऐसी स्थिति है कि कहीं पानी भर सकता है तो कहीं रबर जमा हो सकती है, जो हादसे की वजह बन सकती है.

हादसे में अब तक 18 की मौत

दुबई से लौट रहा यह विमान 174 पैसेंजर, 10 नवजात बच्चों, 2 पायलट और 5 केबिन क्रू के साथ मलाप्पुरम के कालीकट एयरपोर्ट आ रहा था.

हादसे का शिकार होने के बाद विमान दो हिस्सों में बंट गया.
इसमें दो पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गई.
केरल में शुक्रवार को तेज बारिश हो रही थी.
वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से कोझिकोड आ रहा विमान रनवे पर फिसल गया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें