Gujarat Exclusive > यूथ > गुजराती लड़कों ने भारत की कराई वापसी, ऑस्ट्रेलिया के सामने रखा 303 रनों का लक्ष्य

गुजराती लड़कों ने भारत की कराई वापसी, ऑस्ट्रेलिया के सामने रखा 303 रनों का लक्ष्य

0
248

शुरुआती दो वनडे मुकाबले गंवाने के बाद सीरीज हार चुकी भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) ने तीसरे और अंतिम वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 303 रनों का लक्ष्य रखा है. भारतीय टीम (Team India) ने गुजराती के हार्दिक पांड्या (नाबाद 92 रन) और रवींद्र जडेजा (नाबाद 66 रन) की जोरदार पारियों के दम पर टीम इंडिया (Team India) ने निर्धारित 50 ओवरों में 5 विकेट पर 302 रन बनाए.

पांड्या ने 76 गेंदें पर 7 चौके और एक छक्के की मदद से 92 रनों की जोरदार पारी खेली. वहीं जडेजा ने 50 गेंदें पर 5 चौके और 3 छक्के की मदद से 66 रनों की नाबाद पारी खेली. दोनों के बीच छठे विकेट के लिए 150 रनों की अटूट साझेदारी हुई.

यह भी पढ़ें: किसान संगठनों के बीच बैठक जारी, अमित शाह से मिले कृषि मंत्री

एक समय टीम इंडिया (Team India) ने अपने पांच विकेट 152 रनों पर गंवा दिए थे. उस समय 300 पार का स्कोर मुश्किल लग रहा था. लेकिन पंड्या और जडेजा ने ऑस्ट्रलियाई गेंदबाजों और फील्डरों का छकाते हुए भारत (Team India) को सम्मानजनक स्कोर दिलाया. दोनों ने 108 गेंदों में 150 रन जोड़े. इससे पहले कप्तान विराट कोहली (63) और शुभमन गिल ने 33 रनों की पारी खेली.

ऑस्ट्रेलिया की उम्दा गेंदबाजी

ऑस्ट्रेलिया के लिए गेंदबाजी की शुरुआत अच्छी रही. हेजलवुड ने विराट कोहली का महत्वपूर्ण विकेट लिया और 10 ओवर में 66 रन दिए. जाम्पा और एगर काफी प्रभावी रहे. एगर ने 10 ओवर में 44 रन देकर दो विकेट लिए जबकि जाम्पा ने 10 ओवर में 45 रन खर्च किए और एक विकेट हासिल किया. एबॉट महंगे साबित हुए और उन्होंने 10 ओवर में 84 रन खर्च किए.

कोहली के सबसे तेज 12 हजार रन

इस मैच में विराट कोहली ने ना सिर्फ वनडे क्रिकेट में अपने 12,000 रन पूरे किए बल्कि 63 रन की पारी खेलकर एक छोर संभाले रखा. आईसीसी रैंकिंग में दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केनबरा में अपनी 63 रनों की पारी के दौरान 23 रन बनाते ही वनडे इंटरनेशनल में सबसे तेज 12,000 रन पूरे करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. 32 साल के विराट सबसे कम पारियों (242) में यह उपलब्धि हासिल करने वाले बल्लेबाज बन गए. उन्होंने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया, जिन्हें अपने 12,000 रन पूरे करने के लिए 300 पारियां लगी थीं.

साल में शतक नहीं लगा पाए विराट कोहली

इस मैच में आउट होने के साथ ही विराट कोहली के साथ एक अनचाहा रिकॉर्ड नाम जुड़ गया. साल 2008 में डेब्यू करने के बाद यह पहला मौका है, जब एक साल में विराट कोहली वनडे क्रिकेट में एक भी शतक नहीं बना पाए. हालांकि कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस बार ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेले गए. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही ये वनडे सीरीज इस साल की आखिरी वनडे सीरीज है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें