Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस पर फिर से लगेगा ब्रेक

भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस पर फिर से लगेगा ब्रेक

0
302

भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) एक बार फिर से बंद होने वाली है. दरअसल, इस ट्रेन को पैसेंजरों का टोटा है. इसलिए इसे चलाने वाली कंपनी ने इसे पटरियों पर दौड़ाने की बजाय यार्ड में ही खड़ी रखने का मन बनाया है. तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) का संचालन IRCTC के हाथ में है. यह रेल मंत्रालय का एक सार्वजनिक उपक्रम है.

अंग्रेजी अख्बार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, नई दिल्ली-लखनऊ के बीच दौड़ने वाली तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) का संचालन आगामी 23 नवंबर से जबकि अहमदाबाद-मुंबई के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) का संचालन आगामी 24 नवंबर से बंद होगा.

यह भी पढ़ें: रविशंकर प्रसाद का बड़ा आरोप- यूपीए के राज में बिना डील के नहीं होती थी कोई डील

नहीं मिल रहे यात्री

खबरों के मुताबिक, तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) ट्रेन के बंद होने के पीछे यात्रियों की संख्या में कमी है. कोरोना संक्रमण के बीच वीआईपी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में सफर करने के लिए बहुत कम यात्रियों ने बुकिंग कराई जिसकी वजह से रेलवे को इस ट्रेन के संचालन कोई खास आमदनी नहीं हो रही है.

आमदनी कम, खर्च ज्यादा

आईआरसीटीसी के मुताबिक इस ट्रेन (Tejas Express) को चलाने में आमदनी कम है जबकि खर्चा ज्यादा है. इस ट्रेन को एक दिन चलाने का खर्च 15 से 16 लाख रुपये आता है जबकि, इस पूरे ट्रेन में 50 से 60 पैसेंजरों की ही बुकिंग है. यदि हर पैसेंजर के टिकट की कीमत 1,000 रुपये औसत भी मान लिया जाए तो 50 से 60 हजार रुपये की ही आमदनी है. इस पूरे ट्रेन में 758 पैसेंजरों की बुकिंग हो सकती है. बता दें कि अक्टूबर 2019 में देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत हुई थी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें