Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार चुनाव से पहले तेजस्वी का बड़ा वादा, कहा- 10 लाख युवाओं को देंगे नौकरी

बिहार चुनाव से पहले तेजस्वी का बड़ा वादा, कहा- 10 लाख युवाओं को देंगे नौकरी

0
432

बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों के ऐलान के साथ सूबे में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो चली हैं. प्रमुख पार्टियों द्वारा मुद्दों और वादों की पेशकश सामने आने लगी है. इसी बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव  (Tejashwi Yadav) ने रविवार को बड़ा ऐलान किया है. तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ट्वीट कर लिखा है, ” पहली कैबिनेट में पहली कलम से बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे.”

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ट्वीट करके कहा, बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से ही हैं. शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हजार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है. तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अपने ट्वीट में लिखा, पहली कैबिनेट में पहली कलम से बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे.

 

लगातार नीतीश को घेर रहे हैं तेजस्वी

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) बहुत पहले से रोजगार के मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरते रहे हैं. उनका आरोप केंद्र सरकार पर भी कि युवाओं के नौकरी देने के नाम पर ठगा गया. बीते दिन तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा, उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार में बिहार 26वें नंबर पर है. राज्य में निवेश और उद्योग लगाने में बिहार सबसे फिसड्डी राज्य है. उदारीकरण के बाद 15 वर्षों से सत्ता संभाल रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और एनडीए सरकार इन आंकड़ों पर बात क्यों नहीं करते?

यह भी पढ़ें: शारजाह में आज राजस्थान का पंजाब से सामना, बड़े स्कोर की आशा

वहीं किसानों के मुद्दे पर भी तेजस्वी यादव ने एनडीए सरकार को घेरा है. कृषि बिल के खिलाफ पटना में उन्होंने ट्रैक्टर रैली निकाली जिसमें वे ट्रैक्टर चलाते दिखे. इस विरोध प्रदर्शन में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया.

नीतीश ने भी साफ की रणनीति

उधर सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने भी अपने अगले कार्यालय की योजनाओं साफ कर दिया है. शुक्रवार को चुनाव आयोग की ओर से चुनाव के तारिखों की घोषणा के बाद शाम में उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने कहा कि अगर जनता फिर एक बार सेवा का मौका देती हैं, तो कई काम है जिन्हें पूरा करना है.

उन्होंने कहा है कि अगर दोबारा एनडीए की सरकार आती है तो सात निश्चय पार्ट-2 पर काम किया जाएगा. इसके तहत पिछले सात निश्चिय योजना के तहत किए गए काम को नए आयाम तक पहुंचाया जाएगा. सात निश्चय पार्ट-2 के तहत युवाओं के विकास के लिए उद्यमिता और कौशल विकास के लिए अलग विभाग की स्थापना की जाएगी. सशक्त महिला, सक्षम महिला के निश्चय से महिलाओं को न केवल समृद्धि देना बल्कि उन्हें आत्मनिर्भर भी बनाने पर काम किया जाएगा.

तीन चरणों में होने हैं चुनाव

बता दें कि देश में कोरोना के बढ़ते आंतक के बीच चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है. पहले चरण का मदताद 28 अक्टूबर को होगा.

दूसरे चरण की वोटिंग 3 नवंबर जबकि तीसरे और आखिरी चरण का मतदान 7 नवंबर को होगा. वोटों की गिनती 10 नवंबर को की जाएगी. कोरोना संकट की वजह से इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव का समय बढ़ा दिया गया है. मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. पहले चरण में 16 जिलों के 71 सीटों पर चुनाव आयोजित होगा. दूसरे चरण में 17 जिलों के 94 सीटों पर वोटिंग और तीसरे चरण में 15 जिलों के 78 सीटों पर मतदान का आयोजन किया गया है.

बिहार में 243 विधानसभा सीटें हैं. इनमें से 38 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और 2 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व हैं. पिछले चुनाव में राज्य में 6.68 करोड़ वोटर थे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें