Gujarat Exclusive > राजनीति > कोरोना को लेकर मेघालय के MLA का बेतुका बयान, गर्भपात और समलैंगिक शादी को बताया जिम्मेदार

कोरोना को लेकर मेघालय के MLA का बेतुका बयान, गर्भपात और समलैंगिक शादी को बताया जिम्मेदार

0
995

शुक्रवार को मेघालय के विधानसभा में अजीबो-गरीब नजारा दिखने को मिला. खनाम के विधायक एडेलबर्ट नोनग्रम ने कोरोना को लेकर एक बेतुका बयान दिया. उन्होंने कहा कि गर्भपात और समलैंगिक शादी के चलते लोग कोरोना के शिकार हो रहे हैं. बाद में संसदीय कार्य मंत्री प्रेसटोन टायलसॉन्ग ने उनके इस विवादित बयान को सदन की कार्यवाही से हटा दिया.

क्या कहा विधायक ने?

दरअसल विधानसभा में कोरोना वायरस के संक्रमण पर चर्चा चल रही थी इसी दौरान एडेलबर्ट नोनग्रम ने कहा, ‘हमें कोरोना वायरस को सजा के तौर पर देखना चाहिए दरअसल हम सब पापी इंसान हैं. पाखंड, गर्भपात, समलैंगिक विवाह आज हर तरफ दुनिया में हो रही है. हमें इस वायरस से डरने की जरूरत है. ये किसी अदृश्य दुश्मन के खिलाफ जंग नहीं है बल्कि विश्वास के खिलाफ लड़ाई है.’

सदन में ड्रामा

ये सारी बातें कहने के बाद एडेलबर्ट नोनग्रम ने स्पीकर से बाइबल के कुछ हिस्से पढ़ने की इजाजत मांगी. जब तक स्पीकर उन्हें इजाजत देते उससे पहले ही वो वेल के सामने घुटने के बल जमीन पर बैठ गए. स्पीकर ने उन्हें मना किया. इसके बाद वो अपनी सीट पर लौट गए और कहा कोई भी कानून ईश्वर के कानून से बड़ा नहीं है. इसके बाद विधायक ने बाकी सदस्यों को उनके साथ बाइबल की कुछ लाइनें पढ़ने को कहा, ‘ये भगवान हम पर दया करो. हमें माफ कर दो.’

मेघालय में कोरोना

मेघायल में अब तक कोरोना के 14 मामले सामने हैं. इसमें से 12 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं. जबकि इस खतरनाक वायरस की चपेट में आकर एक शख्स की मौत हो गई.

मध्य प्रदेश में उप चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, 200 कार्यकर्ता BJP में शामिल