Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ये पाकिस्तान है कि मानता नहीं ! कोरोना से लड़ाई की चर्चा में लगाई ‘जम्मू-कश्मीर’ की अलाप

ये पाकिस्तान है कि मानता नहीं ! कोरोना से लड़ाई की चर्चा में लगाई ‘जम्मू-कश्मीर’ की अलाप

0
294

पाकिस्तान अपनी अजीब-ओ-गरीब हरकतों से बाज नहीं आने वाला है. जम्मू-कश्मीर के नाम पर ना जाने वह कितने राग बघार चुका है लेकिन हर बार उसकी फजीहत ही होती रही है. एक बार फिर पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर का राग अलापा है लेकिन इस बार तो उसने हद कर दी. मौका था सार्क देशों के बीच कोरोना वायरस से लड़ाई पर चर्चा का लेकिन इस दौरान पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर की फिक्र सबसे ज्यादा सताने लगी.

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में भारत सहित सभी सार्क देशों के प्रतिनिधी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जुड़े. इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए सबको एकजुट होने की बात पर जोर दिया और इसको लेकर अपनी चिंता जाहिर की लेकिन जब बारी पाकिस्तान की आई तो उसने जम्मू-कश्मीर पर राग छेड़ दिया.

अपने देश का प्रतिनिधित्व कर रहे पाकिस्तान के स्वास्थ्य राज्य मंत्री ज़फ़र मिर्ज़ा ने कहा, ‘यह चिंता की बात है कि जम्मू-कश्मीर से कोरोना वायरस की सूचना मिली है और आपातकाल के मद्देनजर यह जरूरी है कि क्षेत्र में लगे सभी रोक तुरंत हटा दिए जाएं.’ मतलब हद हो गई. इमरान खान की सरकार के पाकिस्तानी स्वास्थ्य मंत्री को अपनी देश और दुनिया के बाकी देशों की चिंता से बड़ी जम्मू-कश्मीर की चिंता लगी.

मालूम हो कि भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका सार्क (SAARC) के सदस्य राष्ट्र हैं. ये सभी देश कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी की पेशकश पर इससे निपटने की कोशिश में आगे आए थे. सभी ने अपनी चिंता जाहिर की. ऐसे मौके पर पाकिस्तान का ये राग अलापना उसकी बौधिक क्षमता पर सवाल उठाता है.

सार्क देशों की कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी ने कहा- कोरोना से घबराने की नहीं, सावधान रहने की जरूरत है