Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ट्रैक्टर रैली को दिल्ली पुलिस से मिली हरी झंडी, 3 जगहों से हटाए जाएंगे बैरिकेड

ट्रैक्टर रैली को दिल्ली पुलिस से मिली हरी झंडी, 3 जगहों से हटाए जाएंगे बैरिकेड

0
402

दिल्ली की सीमाओं पर जारी किसान आंदोलन के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है. दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) को इजाजत मिल गई है. ट्रैक्टर रैली पर दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर ने कहा कि आज किसानों से अच्छा संवाद रहा. दिल्ली के तीन जगहों से ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) की इजाजत है. इन तीनों बॉर्डर पर बैरिकेड हटाए जाएंगे.

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी इंटेलीजेंस दीपेंद्र पाठक ने बताय कि सिंघु बॉर्डर पर 62 किलोमीटर का रूट, टिकरी बॉर्डर पर 63 किलोमीटर का रूट और गाजीपुर से 46 किलोमीटर का रूट तय किया गया है.

यह भी पढ़ें: ताम्रध्वज साहू को कांग्रेस ने नियुक्त किया पर्यवेक्षक, निकाय चुनाव पर रखेंगे निगरानी

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह के बाद ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) शुरू होगी. ट्रैक्टर की संख्या अभी क्लियर नहीं है. कैसे शांति व्यवस्था बनाये रखें और उन्हें सुरक्षा प्रदान कर सकें, इस पर एग्रीमेन्ट हो गया है.

योगेंद्र यादव ने की किसानों से अपील

वहीं दिल्ली पुलिस के साथ मीटिंग के बाद योगेंद्र यादव ने कहा कि दिल्ली पुलिस की तरफ से आधिकारिक रूप से 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) निकालने की इजाजत मिल गई है. जितने भी साथी अपनी ट्रालियां लेकर बैठें है, मैं उनसे अपील करता हूं कि सिर्फ ट्रैक्टर दिल्ली के अंदर लेकर आएं, ट्रालियां न लेकर आएं.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने सभी अधिकारियों को लिखित निर्देश जारी किए हैं कि 26 जनवरी के परेड इंतजामों के बाद किसान ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) को लेकर अलर्ट रहना होगा. आदेश से माना जा रहा है कि पुलिस के लिए 26 जनवरी को सुरक्षा इंतजाम बड़ी चुनौती रहेगी.

पाकिस्तान में बने 308 ट्विटर हैंडल

दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) में गड़बड़ी की आशंका जताई और कहा कि पाकिस्तान में 308 ट्विटर हैंडल बनाए गए ताकि अव्यवस्था फैलाई जा सके. हालांकि पुलिस अब अलर्ट है. दीपेंद्र पाठक ने कहा कि हमें कई इंटेलीजेंस इनपुट मिले हैं कि इस ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने की साजिश रची जा रही है. 308 ट्विटर हैंडल पाकिस्तान में बने हैं ताकि लॉ एंड ऑर्डर को खराब किया जा सके और इस ट्रैक्टर परेड को डिस्टर्ब किया जा सके.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें