Gujarat Exclusive > देश-विदेश > टेलीविजन की रेटिंग पर 12 हफ्ते तक की रोक, रिपब्लिक टीवी को नहीं मिली राहत

टेलीविजन की रेटिंग पर 12 हफ्ते तक की रोक, रिपब्लिक टीवी को नहीं मिली राहत

0
325

टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट (TRP) को लेकर मुंबई पुलिस के खुलासे के बाद BARC (Broadcast Audience Research Council) ने बड़ा फैसला किया है. BARC ने अब TRP पर अगले 12 हफ्तों तक के रोक लगा दी है. रेटिंग्स का निलंबन अंग्रेजी, हिंदी, क्षेत्रीय भाषाओं और बिजनेस न्यूज चैनलों पर लागू होगा. वहीं टेलीविजन न्यूज़ की नियामक संस्था NBA ने BARC के इस फैसले का स्वागत किया है.

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दावा किया कि TRP में घोटाला हो रहा था. कुछ चैनल कोशिश कर रहे थे कि वो किसी तरह से टीआरपी को अपनी तरफ खींच लें. लेकिन अब BARC ने फैसला लिया है कि अगले तीन महीनों तक TRP जारी नहीं की जाएगी.

यह भी पढ़ें: आईपीएल 2020: राजस्थान पर दिल्ली की दमदार जीत, एनरिक ने रचा इतिहास

BARC ने TRP को लेकर क्या कहा

BARC ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि ‘BARC अपने सिस्टम की जांच कर रहा है. इसके लिए न्यूज की कैटेगरी से प्रक्रिया शुरू की जा रही है. एजेंसी सभी न्यूज चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग पब्लिशिंग रोक रही है. इस प्रक्रिया में 8 से 12 हफ्ते लग सकते हैं. सिस्टम की टेस्टिंक को BARC की टेक कॉम. देख रही है. एजेंसी खबरों के राज्य और भाषा के मानकों पर दर्शकों का साप्ताहिक आंकड़ा जारी करती रहेगी.’

रेटिंग एजेंसी ने अपने बयान में कहा कि उसने यह कदम ‘बड़ी कैटेगरीज़ के डेटा की रिपोर्टिंग और रेटिंग मापने के अपने मौजूदा सिस्टम की समीक्षा करन का फैसला किया है, ताकि उसके सांख्यिकी को और मजबूत किया जा सके और इससे छेड़छाड़ करने की संभावित कोशिशों पर रोक लगाई जा सके.’

रिपब्लिक टीवी को राहत नहीं

उधर टीआरपी घोटाले मामले में रिपब्लिक टीवी (Republic TV) की याचिका पर सुनवाई करने से इनकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को याचिकाकर्ता को बॉम्बे हाईकोर्ट जाने को कहा है. जस्टिस डीवाई चंद्रचूड, जस्टिस इंदू मल्होत्रा और जस्टिस इंदिरा बनर्जी की बेंच ने कहा कि वो इस याचिका पर सुनवाई नहीं करेंगे, इसके लिए टीवी चैनल को हाईकोर्ट जाना चाहिए.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें