Gujarat Exclusive > देश-विदेश > Twitter ने डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट करने पर लगाई अस्थायी पाबंदी

Twitter ने डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट करने पर लगाई अस्थायी पाबंदी

0
346

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर खातों पर अस्थाई रूप से पाबंदी लगा दी है. ट्रंप के खातों से कोरोना महामारी को लेकर किए जा रहे भ्रामक जानकारी देने वाले ट्वीट को इस रोक के पीछे की वजह बताया गया है.

Twitter का आरोप है कि ट्रंप के खातों से हुए ट्वीट कोरोना महामारी के संबंध में भ्रामक जानकारी वाले हैं, ऐसे में यह कंपनी के मानकों के अनुरूप नहीं हैं. ट्विटर के एक प्रवक्ता ने बताया कि ट्रंप कोरोना वायरस के बारे में अपने ट्वीट के जरिये गलत सूचना फैला रहे थे जो कि महामारी को लेकर कंपनी की ओर से अपनाए गए मानकों के अनुरूप नहीं थे और दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले थे.

उन्होंने बताया कि ट्रंप ने फॉक्स न्यूज का एक वीडियो ट्वीट किया है, जो काफी भ्रामक है.

यह भी पढ़ें: मुंबई पुलिस ने विनय तिवारी को हाउस अरेस्ट किया: बिहार डीजीपी

इसलिए हमने उनके उस खाते को बंद कर दिया जिससे वे इस तरह की गलत और भ्रामक सूचना फैला रहे थे.

मालूम हो कि इससे पहले फेसबुक ने भी ट्रंप के इस तरह के वीडियो पर रोक लगाई थी.

ट्रंप ने क्या लिखा था

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा था कि अगर आप बच्चों की बात करें तो मेरे हिसाब से बच्चों को कोरोना लगभग नहीं हो सकता है.
क्योंकि बच्चों में कोरोना बीमारी के प्रति रोगप्रतिरोधक क्षमता काफी अधिक है.

हालांकि आंकड़ों के अनुसार अब तक ज्यादातर बच्चे ही कोरोना महामारी की चपेट में आ रहे हैं.

और यह ट्रंप की बात को गलत साबित करते हैं.

फेसबुक ने लगाया था प्रतिबंध

इससे पहले भी ट्विटर की ओर से राष्ट्रपति ट्रंप के खातों पर कई बार प्रतिबंध लगाया जा चुका है.

यह पहली बार है कि सोशल मीडिया कंपनी ने गलत जानकारी फैलाने के लिए ट्रंप के एक पोस्ट को पूरी तरह से हटा दिया है.

Twitter पर काफी सक्रिय रहते हैं ट्रंप

मालूम हो कि डोनाल्ड ट्रंप ट्विटर पर काफी सक्रिय रहते हैं.
हर छोटी और बड़ी खबर शेयर करने के अलावा वह जानकारी भी साझा करते हैं.

कोरोना काल में भी वह काफी सक्रिय रहे हैं.
हालांकि कई बार उन्हें अपनी पोस्ट की वजह से नुकसान भी उठाना पड़ा है.

साल के अंत में अमेरिका में चुनाव होने वाले हैं.
ऐसे में अगर ट्विटर उन पर ज्यादा समय तक बैन बरकरार रखता है तो उनकी चुनाव प्रचार पर इसका असर पड़ सकता है.

क्योंकि चुनाव कैंपेन में सोशल मीडिया की भूमिका अहम हो सकती है.

 

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें