Gujarat Exclusive > देश-विदेश > अफवाह फैलाने वालों को उद्धव की चेतावनी, कहा- कोरोना से तो मैं अपनी जनता को बचा लूंगा, लेकिन तुम्हें मुझसे कोई नहीं बचाएगा

अफवाह फैलाने वालों को उद्धव की चेतावनी, कहा- कोरोना से तो मैं अपनी जनता को बचा लूंगा, लेकिन तुम्हें मुझसे कोई नहीं बचाएगा

0
596

देश में महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जहां कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. हालांकि राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार इस वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिए लगातार प्रयासरत है. इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के लोगों के लिए वीडियो संदेश दिया है. उन्होंने कहा, सोलापुर की आराध्या में अपने जन्मदिन के अवसर पर कोरोना के लिए मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में दान देकर उत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया है. वहीं, होटल ताज और ट्राइडेंट ने डॉक्टरों ले रहने की जगह दी है. बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान ने भी अपने दफ्तर की जगह दी है. मदद के लिए बहुत से लोग आगे आ रहे हैं.”

कोरोना को लेकर पूरे देश में अफवालों का बाजार भी गर्म है. लोग सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैला रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने गलत वीडियो फैलाने वालों को निशाना लेते हुए चेतावनी भी दी. उन्होंने कहा, ”समाज के कुछ घातक वायरस भी हैं, इसलिए मैं उनको बताना चाहता हूं कि कोरोना से तो मैं अपनी जनता को बचा लूंगा, लेकिन उसके बाद तुम्हें मुझसे कोई नहीं बचा पाएगा. इसलिए कृपया कर गलत वीडियो ना घुमाएं.”

उद्धव ठाकरे ने कहा, ”हमने मुम्बई में जांच केंद्र बढ़ाया है. इसलिए मरीजों की संख्या बढ़ती हुई दिख रही है, लेकिन 51 लोग ठीक भी हुए हैं. दुर्भाग्य से कुछ लोगों की मृत्यु हुई है. पर वो बुजुर्ग थे, बीमार थे. कहने का मतलब ये कि हम सभी को अपने घर परिवार में बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखना है. उनसे विशेष दूरी बनाये. अगली सूचना तक राज्य में कोई भी धार्मिक, राजनीतिक समारोह का आयोजन की इजाजत नहीं दी जाएगी.”

उन्होंने कहा, ”महाराष्ट्र में करीब 5 लाख मजदूरों (दूसरे राज्यों के और कुछ महाराष्ट्र के भी) के रहने, खाने की व्यवस्था की जा रही है. मैं अपेक्षा करता हूं कि दूसरे राज्य के मुख्यमंत्री उनके यहां महाराष्ट्र के कोई लोग फंसे हों तो उनका ख्याल रखे. महाराष्ट्र के लोगों को भी आवाहन है कि राज्य के बाहर उन्हें कोई तकलीफ है तो मुख्यमंत्री कार्यालय को सूचित करें.

सीएम ठाकरे ने कहा, ”हम सिर्फ कोविड-19 के इलाजों के लिए अस्पताल बढ़ा रहे हैं. मेरी विनती है कि जिसे भी कोरोना के लक्षण हो वो सिर्फ कोरोना टेस्ट होने वाले केंद्रों में ही जाएं. सामान्य अस्पतालों में नहीं. सिंगापुर के प्रधानमंत्री ने कहा है कि अगर घर से बाहर जाना जरूरी हो तो N90 मास्क की जरूरत नहीं. अगर मास्क नहीं हो तो घर रखे स्वच्छ कपड़े से अपने नाक मुहं सब ढंक कर जाएं. बाहर जाते समय अंतर बनाएं तभी कोरोना से अंतर बनाये रख पाएंगे. मेरा मेरे से ज्यादा आप लोगों पर भरोसा है. मुझमें आत्मविश्वास तो है ही. हम छत्रपति शिवाजी महाराज की भूमि से हैं. डरते नही हैं लड़ते हैं और जीतते हैं.”

Corona Live Update : देश में 21 से 40 साल के कोरोना मरीजों की संख्या सर्वाधिक, तब्लीगी जमात से जुड़े 1023 पॉजिटिव मामले आए : स्वास्थ्य मंत्रालय