Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > यूपी में अनलॉक-5 के लिए गाइडलाइंस जारी, 15 अक्टूबर से खुल सकेंगे स्कूल

यूपी में अनलॉक-5 के लिए गाइडलाइंस जारी, 15 अक्टूबर से खुल सकेंगे स्कूल

0
363

देश में ऑनलॉक-5 (Unlock 5) की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. इस बीच केंद्र के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने अनलॉक-5 (Unlock 5) के दिशानिर्देश गुरुवार को जारी कर दिए. इसके मुताबिक स्कूल और शैक्षणिक संस्थान 15 अक्टूबर के बाद चरणबद्ध तरीके से खोले जा सकेंगे.

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बताया कि अनलॉक-5 (Unlock 5) के दिशा निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जारी कर दिए गए हैं. इनके अनुसार कटेंनमेंट जोन के बाहर समस्त स्कूल और कोचिंग संस्थान 15 अक्टूबर के बाद खोले जा सकेंगे. यह निर्णय स्कूल व संस्थान के प्रबन्धन से विचार-विमर्श कर एवं स्थिति का आंकलन कर जिला प्रशासन से लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: हाथरस में 31 अक्टूबर तक धारा 144 लागू, TMC सांसदों को पुलिस ने रोका

उन्होंने कहा कि ऑनलाइन दूरस्थ शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित किया जाएगा एवं इस व्यवस्था को प्राथमिकता दी जाएगी. जहां स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं चला रहे है व कुछ छात्र भौतिक रुप से कक्षाओं में शामिल होने के बजाए ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल होने के इच्छुक है, तो उनको इसकी इजाजत दी मिल सकेगी.

माता-पिता की सहमति के बाद उपस्थिति

उन्होंने कहा कि छात्र सम्बन्धित स्कूल में अपने माता-पिता की लिखित सहमति से ही उपस्थित हो सकते हैं. इसके साथ ही स्कूल व शैक्षणिक संस्थानों में छात्रों की उपस्थिति बिना माता-पिता के सहमति से अनिवार्य नहीं करायी जा सकती. यह माता-पिता की सहमति पर निर्भर होगा.

अपर सचिव अवस्थी ने कहा कि तरण-तालों को खिलाड़ियों के प्रशिक्षण हेतु युवा कल्याण एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार के जारी किए जाने वाले निर्धारित मानकों के अनुसार 15 अक्टूबर से खोले जाने की अनुमति होगी. अपर मुख्य सचिव ने बताया कि मनोरंजन पार्क व ऐसे स्थलों को स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले निर्धारित मानकों के अनुसार 15 अक्टूबर, 2020 से खोले जाने की अनुमति होगी.

3 घंटे की क्लास

सरकार द्वारा जारी अनलॉक-5 (Unlock 5) की गाइडलाइन के बाद 15 अक्टूबर के बाद से स्कूल खोलने की तैयारी है. कोरोना से बचाव के लिए फिलहाल 10 वीं से 12वीं कक्षा तक बच्चों को ही पढ़ाने पर विचार हो रहा हैं. खबरें हैं कि क्लास की अवधि को तीन घंटे तक सीमित करने पर विचार किया जा रहा है. साथ ही एक क्लास में अत्याधिक 20 बच्चों की बैठाने की योजना बनाई जा रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें