Gujarat Exclusive > उत्तर प्रदेश बना सर्वाधिक कोरोना टेस्ट करने वाला राज्य, तमिलनाडु को पछाड़ा

उत्तर प्रदेश बना सर्वाधिक कोरोना टेस्ट करने वाला राज्य, तमिलनाडु को पछाड़ा

0
405
  • प्रदेश में अब तक 35,98,210 टेस्ट
  • 14 अगस्त को 96,106 नमूनों की जांच
  • पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से नीचे पहुंचा

देश में कोरोना के मामले बेहद तेजी से बढ़ रहे हैं. हालांकि इसकी एक बड़ी वजह टेस्टिंग को बढ़ाना भी माना जा रहा है. केंद्र ने राज्यों को कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने का निर्देश दिया था. इस कड़ी में उत्तर प्रदेश सर्वाधिक कोरोना टेस्ट करने वाला राज्य बन गया है.

उत्तर प्रदेश ने तमिलनाडु को पीछे छोड़ते हुए कोरोना टेस्ट में शीर्ष स्थान हासिल किया.
प्रदेश में अब तक 35 लाख 98 हजार 210 नमूनों की जांच की जा चुकी है.

यह भी पढ़ें: प्रणब मुखर्जी की स्थिति नाजुक, अभी भी वेंटिलेटर पर

अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया, “14 अगस्त को उत्तर प्रदेश की विभिन्न प्रयोगशालाओं में कुल 96,106 कोरोना नमूनों की जांच की गई. इसे मिलाकर कुल जांच का आंकड़ा अब 35,98, 210 पहुंच गया है जो देश में सर्वाधिक है. इससे यूपी कोरोना जांच के मामले में अव्वल हो गया है.”

पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से कम

अपर मुख्य सचिव ने बताया, “जब टेस्टिंग शुरू की गई थी तब से 24 जून तक कुल 6,03,390 लाख नमूनों की जांच हुई थी. वहीं 24 जून से 30 जुलाई के बीच 16 लाख से अधिक नमूनों की जांच हुई और आंकड़ा 22,09,810 पहुंच गया. इसके बाद प्रदेश में जांच की संख्या में और इजाफा किया गया और कई बार एक दिन में एक लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई. बीते दिनों प्रदेश ने कुल 34 लाख जांच का आंकड़ा पार किया और फिर 35 लाख तक पहुंचने के बाद 15 अगस्त से पहले 35,98,210 सैंपल की जांचकर यूपी, देश में पहले स्थान पर पहुंच गया.”

उन्होंने बताया, “1 से 11 अगस्त के बीच जो टेस्ट किए गए हैं उसमें पॉजिटिविटी का प्रतिशत 4.8 प्रतिशत है. इस महीने भी पॉजिटिविटी 5 प्रतिशत से कम बनी हुई है.”

सीएम ने टेस्ट बढ़ाने पर दिए थे निर्देश

कुछ दिनों पहले तक उत्तर प्रदेश सिर्फ तमिलनाडु से पीछे चल रहा था.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को लगातार जांच संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए थे.
उन्होंने कंटेनमेंट जोन में सभी लोगों का कोविड टेस्ट कराने को कहा था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें