Gujarat Exclusive > देश-विदेश > उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा के बीच रेड अलर्ट, उड़ीसा में जारी ऑरेंज अलर्ट

उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा के बीच रेड अलर्ट, उड़ीसा में जारी ऑरेंज अलर्ट

0
187

नई दिल्ली: मानसून सीजन के बाद भी बीते कुछ दिनों से कई राज्यों में होने वाली भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. मौसम विभाग ने आज उत्तराखंड के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. अगले 24 घंटे राज्य के लिए काफी अहम है. इसके अलावा उड़ीसा के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

केरल में बारिश ने जहां कई लोगों की जान ले ली है, वहीं उत्तराखंड में भी यही स्थिति है. उत्तराखंड में सोमवार को भारी से अतिभारी बारिश दर्ज की गई थी. जिसकी वजह से तीन लोगों की मौत हो चुकी है. मिल रही जानकारी के अनुसार मारे गए नेपाली मजदूर थे. भारी बारिश की वजह से चारधाम यात्रा को फिलहाल के लिए रोक दिया गया है और दर्शन के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं को बीच में ही वापस भेजा जा रहा है.

उत्तराखंड के रामनगर से रानीखेत जाने वाले मार्ग पर मोहान में लेमन ट्री रिसोर्ट में कोसी नदी का पानी घुसने से करीब 100 लोग फंसे हैं.
डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि ये सभी लोग सुरक्षित हैं और उनको वहाँ से रेस्क्यू करने के प्रयास जारी है.

इसके अलावा उत्तराखंड के नैनीताल ज़िले के रामगढ़ के एक गांव में बादल फटने की घटना सामने आई है. नैनीताल एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए बताया कि कुछ घायलों को बचा लिया गया है, घटनास्थल पर उपस्थित लोगों की कुल संख्या का अभी पता नहीं चल पाया है.

एसडीआरएफ और पुलिस ने सोमवार को केदारनाथ से लौटने के दौरान भारी बारिश के कारण जंग चट्टी में फंसे करीब 22 लोगों को बचाया. इन सभी लोगों को गौरीकुंड शिफ्ट कर दिया गया है.

उत्तराखंड की तरह उड़ीसा में भी भारी से बहुत भारी बारिश हुई. जिसके बाद मछुआरों को समुद्र में मछली पकड़ने नहीं जाने की सलाह दी गई. इसके अलावा तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है. यहां की दो नदियां बुधबलंगा और सुवर्णरेखा खतरे के सतह को पार कर बह रही हैं.

भारत-पाक मैच का ओवैसी ने किया विरोध, कहा- 9 जवानों के शहीद होने पर भी हम खेलेंगे T-20