Gujarat Exclusive > देश-विदेश > वीएचपी ने कहा- अयोध्या में राम मंदिर की हम करेंगे चौकीदारी, पुराने नक्शे के हिसाब से ही बने मंदिर

वीएचपी ने कहा- अयोध्या में राम मंदिर की हम करेंगे चौकीदारी, पुराने नक्शे के हिसाब से ही बने मंदिर

0
134

नई दिल्ली: राम जन्मभूमि को लेकर चले आंदोलन आगे रहने वाले विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम मंदिर के ट्रस्ट गठन की घोषणा का स्वागत किया है और कहा है कि मंदिर का निर्माण जल्द होना चाहिए. वीएचपी का कहना है कि ट्रस्ट के सदस्यों के नामों की घोषणा तो सरकार ही करेगी. मंदिर हम नहीं बनाएंगे. हम तो चौकीदारी करेंगे.

ट्रस्ट बनाए जाने की पीएम मोदी की घोषणा के बाद बुधवार को विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष डॉ. आलोक कुमार ने कहा, ‘आज हमारे लिए बहुत ही प्रसन्नता का दिन है. भव्य मंदिर बनाने के लिए मजबूत और ठोस कदम सरकार ने लिया है. राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनना और सुन्नी वक्फ बोर्ड को भूमि देने के सरकार ने अपने दायित्व को पूरा किया है.’

आलोक कुमार ने कहा, ‘जो ट्रस्ट का गठन हुआ है वह मंत्रिमंडल की सहमति से हुआ है. हम अपेक्षा करेंगे कि ट्रस्ट जल्द से जल्द अपना काम शुरू करे. प्रत्येक हिंदू के मन में यह आकांक्षा है कि मंदिर का निर्माण जल्द शुरू हो. हम यह अपेक्षा करते हैं कि यह ट्रस्ट जल्दी अपनी व्यवस्थाएं पूरी करके मंदिर निर्माण को शुरू करेगा.’

उन्होंने कहा, ‘जो नक्शा पिछले 30 वर्षों से मंदिर का है. जो सब जगह कई वर्षों से घूम रहा है. सब हिंदुओं के मन में प्रतिष्ठित है. 1989 में इस नक्शे के हिसाब से मंदिर बनाने के लिए सवा आठ करोड़ रुपए इक्कठे हुए थे. इसलिए हम ट्रस्ट से अनुरोध करेंगे कि इस नक्शे के हिसाब से इस मंदिर का निर्माण होना चाहिए. यह ट्रस्ट इस बात की व्यवस्था करे कि इस मंदिर का निर्माण विश्वभर के हिंदुओं के पैसे से हो. प्रत्येक हिंदू की मंदिर निर्माण में हाथ लगाने के अवसर मिलने की भी व्यवस्था की जाए.’

आलोक कुमार ने सभी अपील करते हुए कहा, ’25 मार्च से नवरात्र शुरू हो रहा है. 2 अप्रैल को श्रीराम नवमी है. 8 अप्रैल को हनुमान जयंती है. 25 मार्च से 8 अप्रैल तक विश्व में जहां कहीं भी हिंदू रहते हैं वह सार्वजनिक स्थान पर एकत्र हों. वहां भगवान राम और मंदिर का नक्शा लेकर एक बड़ी शोभायात्रा निकालने का आयोजन करें.’ वीएचपी ने इस आयोजन का नाम रामोत्सव दिया है.