Gujarat Exclusive > गुजरात > वाइब्रेंट को लेकर बड़ी खबर, गुजरात स्थापना दिवस पर शिखर सम्मेलन आयोजित करने पर चर्चा

वाइब्रेंट को लेकर बड़ी खबर, गुजरात स्थापना दिवस पर शिखर सम्मेलन आयोजित करने पर चर्चा

0
288

गांधीनगर: वाइब्रेंट गुजरात समिट 2022 की एक बार फिर से चर्चा तेज हो गई है. एक महीने पहले सम्मेलन आयोजित करना था. लेकिन गुजरात सरकार ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर के चलते शिखर सम्मेलन को रद्द कर दिया था. लेकिन अब फिर से वाइब्रेंट समिट की चर्चा शुरू हो गई है. गुजरात प्रशासन फिर से वाइब्रेंट समिट कराने की चर्चा शुरू की है, जनवरी माह में होने वाला वाइब्रेंट समिट अब गुजरात के स्थापना दिवस पर हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक, वाइब्रेंट गुजरात समिट 2022 गुजरात के स्थापना दिवस यानी 1 मई को हो सकता है. हालांकि अभी तक सरकार की ओर से इस खबर की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

उल्लेखनीय है कि वाइब्रेंट गुजरात समिट 2022 का आयोजन 10 से 12 जनवरी तक किया गया था. लेकिन गुजरात में कोरोना के दैनिक मामलों में भारी वृद्धि दर्ज होने की वजह से सरकार ने इसे स्थगित करने का फैसला किया था. हालांकि कुछ समय पहले तक गुजरात सरकार और राजनीतिक नेता इस बात पर अड़े थे कि वाइब्रेंट गुजरात समिट को किसी भी कीमत पर रद्द नहीं किया जाएगा,

मिल रही जानकारी के अनुसार मोजाम्बिक प्रतिनिधिमंडल ने गुजरात आने से इनकार कर दिया था. गुजरात सरकार ने इस पर आधिकारिक रूप से कोई टिप्पणी नहीं की है. हालांकि, अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने मंगलवार रात इस बात की पुष्टि की कि मोजाम्बिक के राष्ट्रपति फिलिप न्यूसी और उनकी पत्नी इसौरा की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. जिसकी वजह से उनके नेतृत्व में आने वाला प्रतिनिधिमंडल 10 जनवरी को गांधीनगर का दौरा नहीं करेगा.

वाइब्रेंट गुजरात समिट-2022 की तैयारियों के पीछे करोड़ो रुपया खर्च करने के बाद गुजरात सरकार ने कोरोना के बढ़ते केस की वजह से वाइब्रेंट समिट को स्थगित करने का फैसला किया है.

गुजरात: कोरोना संक्रमित दो मंत्रियों की तबीयत हुई खराब, यूएन मेहता अस्पताल में भर्ती