Gujarat Exclusive > गुजरात एक्सक्लूसिव > नित्यानंद के एजेंट अमिताभ शाह का वीडियो आया सामने, DPS संचालिका मंजुला श्रॉफ का है पार्टनर

नित्यानंद के एजेंट अमिताभ शाह का वीडियो आया सामने, DPS संचालिका मंजुला श्रॉफ का है पार्टनर

0
222

मंजुला पूजा श्रॉफ के बाद गुजरात में बलात्कारी बाबा नित्यानंद का नेटवर्क चलाने वाले अमिताभ शाह का वीडियो सामने आया है. अमिताभ शाह अहमदाबाद में युवा अनस्टॉपेबल नामक एक एनजीओ चलाते हैं. वह एनजीओ के पर्दे के पीछे नित्यानंद के दलाल के रूप में काम करते हैं. नित्यानंद ब्लैकमेलिंग, ब्लैक-व्हाइट, हवाला और युवतियों के व्यापार को लेकर कुख्यात है, इन तमाम कुकर्मों से साफ हो जाता है कि अमिताभ शाह अहमदाबाद में नित्यानंद के लिए क्या करता था? मंजुला, अमिताभ ,रश्मी शाह की इस तिकड़ी नेटवर्क का अमिताभ शाह दूसरे नम्बर का खिलाड़ी है. वह अपने एनजीओ के पर्दे के पीछे बड़े कॉर्पोरेट हस्तियों को नित्यानंद के लिए फंसाने का काम करता है.

अमिताभ शाह का जो वीडियो सामने आया है उस वीडियो में अमिताभ शाह कहते हैं कि “उन्होंने येल विश्वविद्यालय में अध्ययन कर अपने समय को बर्बाद किया है. यदि वे पहले से ही नित्यानंद के शरण में आ गए होते तो येल विश्वविद्यालय में अध्ययन करने की आवश्यकता ही नहीं होती. उल्लेखनीय है कि अमिताभ शाह अहमदाबाद की एक प्रसिद्ध भाषा शिक्षिका दीप्ति शाह के पुत्र हैं. दीप्ति शाह का अहमदाबाद में अंग्रेजी भाषा शिक्षक के तौर पर बड़ा नाम है ऐसी बड़ी शिक्षिका का पुत्र येल विश्वविद्यालय में समय बर्बाद करने की बात खुद स्वीकार कर नित्यानंद के साथ एनजीओ के पर्दे के पीछ कौन सा खेल इतने दिलों से खेल रहा था. उसकी गवाही खुद अपने मुंह से दे रहा है.

अमिताभ शाह के 2 वीडियो सामने आए हैं. एक वीडियो में अमिताभ शाह को एक साध्वी कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए बुलाती है और उनका परिचय देते हुए कहती है.. अमिताभ शाह नित्यानंद के अच्छे दोस्त हैं..अमिताभ शाह कृपया अपना परिचय दें कि आप क्या करते हैं और महासदाशिवम का अनुभव और अपनी शक्तियों के बारे में बताएं.

जिसके बाद अमिताभ शाह अपना परिचय देते हुए कहते हैं, ‘मैं पहले वाक्य से शुरुआत करना चाहता हूं. जब मैं येल विश्वविद्यालय गया, जहां दुनिया भर से कई लोग अध्ययन के लिए आते हैं, तो मुझे ऐसा लगा कि मैंने समय बर्बाद किया है, मुझे लगता है कि अगर मैं केवल एसएमएस में आ जाता तो सब कुछ अच्छा हो जाता, मेरे पास ब्लेडप्रेशर को कम करने की शक्ति थी. मेरे मित्र डीनोए ने कहा कि उन्हें लगता है कि रक्तचाप कम हो गया है और वह उसे बढ़ाना चाहता है, इसलिए मैंने स्वामीजी से आग्रह किया कि अधिकतम स्तर तक बढ़ा दिया जाए. 131 ब्लडप्रेशर था (मोबाइल में नंबर दिखाते हुए) स्वामीजी से मैं 10-15 अंक बढ़ाने का आग्रह किया. स्वामीजी ने इसे 21 अंक बढ़ाकर 152 तक मात्र 45 सेकंड के भीतर पहुंचा दिया. दोस्तों, यहाँ जो कुछ भी आप देख रहे हैं वह वास्तविक है. इस ग्रह में सबसे अच्छे स्वामीजी हैं और वह उनको मिस कर रहे हैं.

जबकि दूसरे वीडियो में अमिताभ शाह अहमदाबाद में चलने वाले एक आश्रम में साध्वियों के साथ विधि करते दिखाई दे रहा है. हालाँकि, वीडियो देखने के बाद ऐसा लगता है कि उन्होंने अनुष्ठा के लिए किसी दूसरे को बैठाया है जिसकी विधि चल रही है. लेकिन अमिताभ शाह की यह विधि नहीं. अब अगर अमिताभ शाह दूसरों का अनुष्ठान करवाने के लिए शामिल हो तो इस बात से साबित हो जाता है कि उसने कुकर्मी नित्यानंद के लिए काफी लोगों को फंसाया होगा, अनुष्ठान करने जैसी चीज में पूरी तरीके से शामिल था.

डीपीएस और कैलोरैक्स की संचालिका मंजुला पूजा श्रॉफ के बाद अमिताभ शाह का जो वीडियो सामने आया है उसमें दोनो अंधविश्वास के जाल में फंसकर बलात्कारी बाबा नित्यानंद की प्रशंसा में गुणगान कर रहे हैं और अंध विश्वास फैलाने की पूरी कोशिश कर अपने पद प्रतिष्ठा का पूरा-पूरा इस्तेमाल कर रहे हैं. इस बात की पुष्टी वीडियो खुद कर रही है. अब ऐसी परिस्थितियों ये तिकड़ी (मंजुला श्रॉफ, रश्मि शाह और अमिताभ शाह) नित्यानंद के लिए अहमदाबाद में लोगों को कैसे फंसाते थे,एनजीओ और स्कूल के पर्दे के पीछे कौन सा खेल खेलते थे इसके बारे में कुछ कहने की जरुरत नहीं.

गुजरात एक्सक्लूजिव के हाथों लगी जानकारी के अनुसार जो पहले भी रिपोर्ट के रुप में प्रकाशित हो चुकी है, गुजरात में नित्यानंद ब्लैकमेलिंग, हवाला, ब्लैक एंड व्हाइट और महिलाओं के कारोबार का धंधा चलाता था. गुजरात से नित्यानंद दो से तीन हजार करोड़ का फंड कैलाश नामक अलग देश बनाने के लिए जमा किया गया था. और इस पूरे खेल में रश्मी अमिताभ शाह, मंजुला श्रॉफ और अमिताभ शाह गुजरात में दलालों के रूप में काम कर रहे थे.

DPS की संचालिका मंजुला श्रॉफ और बाबा नित्यानंद के मधुर संबंधों का वीडियो सामने आया