Gujarat Exclusive > देश-विदेश > विकास दुबे मामला: दो पुलिस अधिकारियों पर लगा मुखबिरी का संगीन आरोप

विकास दुबे मामला: दो पुलिस अधिकारियों पर लगा मुखबिरी का संगीन आरोप

0
685

कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर घात लगाकर हमला किया गया. जिसकी वजह 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. इस वारदात के बाद से ही लगातार पुलिस के इस कार्रवाई पर अलग-अलग तरीके के सवाल खड़े हो रहे हैं. इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि चौबेपुर के पूर्व थाना प्रभारी को विनय तिवारी को मुखबिरी के संगीन आरोप में हिरासत में लिया गया है.

मिल रही जानकारी के अनुसार चौकी इंचार्ज केके शर्मा को भी हिरासत में लिया गया है. इन दोनों पर मुखबिरी का आरोप लगा है. पुलिस इन दोनों पुलिस अधिकारियों को हिरासत में लेकर इन से पूछताछ कर रही है. ऐसा माना जा रहा है कि पुलिस इन दोनों को गिरफ्तार भी कर सकती है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक विकास दुबे को पकड़ने गए शहीद डीएसपी देवेंद्र मिश्रा ने एक बार नहीं बल्कि कई बार पूर्व चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी की शिकायत की थी. उन्होंने विनय तिवारी पर भ्रष्टचारी होने का आरोप भी लगाया था. जिसकी वजह से इन दोनों के रिश्ते भी काफी तल्ख थे.

60 से ज्यादा आपराधिक मामलों में लिप्ट गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर विकास दुबे के साथियों ने फायरिंग की थी. जिसकी वजह से 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार विकास दुबे को पुलिस की रेड के बारे में पहले से ही जानकारी थी. इसका खुलासा विकास के खास सहयोगी ने खुद की है.

विकास दुबे मामले में ऐसी होगी कार्रवाई, जिससे अपराधियों को मिलेगा सबक: यूपी ADG