Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भले ही कोरोना के लिए जिम्मेदार हों मांसाहारी वस्तुओं के बाजार लेकिन उन्हें बंद न किए जाएं: WHO

भले ही कोरोना के लिए जिम्मेदार हों मांसाहारी वस्तुओं के बाजार लेकिन उन्हें बंद न किए जाएं: WHO

0
1509

कोरोना वायरस के फैलने को लेकर लगातार कई तरह की चीजों को जिम्मेदार माना जाता रहा है. चीन के वुहान के मांसाहारी बाजार को भी कोरोना संक्रमण के लिए जिम्मेदार माना जाता रहा है. अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसको लेकर कहा है कि चाहे चीन के वुहान शहर में मांसाहारी वस्तुओं के बाजार की कोरोना वायरस के पैदा होने में बड़ी भूमिका रही हो, फिर भी वह दुनियाभर में ऐसे बाजारों को बंद करने की सिफारिश नहीं करता है.

एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान डब्ल्यूएचओ के खाद्य सुरक्षा एवं पशु रोग विशेषज्ञ पीटर बेन एम्बारेक ने कहा, मांसाहारी वस्तुओं के बाजार से दुनियाभर के करोड़ों लोगों को भोजन और आजीविका मिलती है और अधिकारियों को उन्हें बंद करने के बजाय उनमें सुधार लाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, भले ही कई बार उनसे इंसानों में महामारियां फैलने का डर रहता है.

बेन एम्बारेक ने कहा,’इस माहौल में खाद्य सुरक्षा कठिन है और इसलिए कई बार बाजारों में ये चीजें हमें देखने को मिलती हैं.’ उन्होंने कहा कि अक्सर भीड़भाड़ वाले इन बाजारों में पशुओं से मनुष्यों तक बीमारी को फैलने के खतरे को कई तरीकों से कम किया जा सकता है जिनमें साफ-सफाई और खाद्य सुरक्षा के मानकों में सुधार करना तथा जिंदा पशुओं को इंसानों से अलग करना शामिल है.

उन्होंने कहा कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि क्या वुहान के बाजार से चीन में कोरोना वायरस के शुरुआती कई मामले सामने आए और क्या वह उसका असल स्रोत है या उसने महज इस बीमारी को और फैलाने में भूमिका निभाई. बेन एम्बारेक ने कहा कि चीन में उस पशु के स्रोत का पता लगाने के लिए जांच चल रही है जिससे कोविड-19 मनुष्यों में फैला.

Corona Live Update: दिल्ली सरकार ने 3 और प्राइवेट अस्पतालों को कोरोना इलाज के लिए मंजूरी दी