Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना वायरस की सटीक दवा कभी संभव नहीं: WHO

कोरोना वायरस की सटीक दवा कभी संभव नहीं: WHO

0
461

कोरोना वायरस को लेकर आए दिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) अपनी चिंता जाहिर करते रहा है. इस बीच एकबार फिर उसने आगाह​ किया है ​कि कोविड-19 की सटीक दवा कभी संभव नहीं है.

WHO ने कहा कि हालात सामान्य होने में अभी वक्त लगेगा. कई देशों को अपनी रणनीति दोबारा बनानी चाहिए.

WHO के निदेशक टेड्रोस अदनोम घेबरेसस ने जेनेवा स्थित मुख्यालय से एक वर्चुअल ब्रीफिंग दी.

यह भी पढ़ें: गुजरात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल के घर में कोरोना का दस्तक

उन्होंने कहा कि सरकारों और लोगों के लिए यह साफ संदेश है कि बचाव के लिए सब कुछ करें.

वैक्सीन को लेकर क्या बोले WHO प्रमुख

‘बहुत से वैक्सीन इस वक्त तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल में हैं और हम उम्मीद कर रहे हैं कि बहुत सी वैक्सीनें लोगों को इन्फेक्शन से बचाने के लिए बन जाएंगी. हालांकि, इस वक्त कोई सटीक इलाज नहीं है और शायद कभी होगा भी नहीं.’

उन्होंने कहा कि दुनियाभर में इस महामारी से मुकाबले में फेस मास्क एकजुटता का प्रतीक बनना चाहिए.

संस्था के प्रमुख ने कहा कि कई वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण में हैं.

फिलहाल कोई अचूक दवा नहीं है और संभवत: ऐसा कभी हो भी नहीं सकता.

उपायों को लागू करना जरूरी

इस मौके पर टेड्रोस और डब्ल्यूएचओ के आपात मामलों के प्रमुख माइक रियान ने सभी देशों से कोरोना की रोकथाम के लिए मास्क, शारीरिक दूरी, हैंड-वाशिंग और टेस्टिंग जैसे उपायों को सख्ती के साथ लागू करने की अपील की.

उन्होंने ने कहा कि ब्राजील और भारत जैसे देशों में ट्रांसमिशन रेट ज्यादा है. उन्हें बड़ी जंग के लिए तैयार रहना चाहिए.

अभी इससे बाहर निकलने का रास्ता लंबा है और इसमें प्रतिबद्धता की जरूरत है.

1.8 करोड़ लोग संक्रमित

मालूम हो कि दुनिया में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 1.81 करोड़ हो गई है.

वहीं करीब 691,000 से अधिक लोग इस बीमारी से जान गंवा चुके हैं.

मंगलवार सुबह तक, कुल मामलों की संख्या बढ़कर 18,193,291 पहुंच गई .
वहीं मृतकों की संख्या बढ़कर 691,642 हो गई.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें