Gujarat Exclusive > गुजरात एक्सक्लूसिव > भगेड़ू नित्यानंद की सहयोगी मंजुला श्राॅफ और उसके साथियों को हेबियस कॉपर्स केस में क्यों नहीं किया जा रहा शामिल?

भगेड़ू नित्यानंद की सहयोगी मंजुला श्राॅफ और उसके साथियों को हेबियस कॉपर्स केस में क्यों नहीं किया जा रहा शामिल?

0
150

अहमदाबाद: पिछले तीन महीना से पुलिस की तमाम कोशिशों के बावजूद डीपीएस स्कूल में चलने वाले नित्यानंद के आश्रम से लापता होने वाली दो लड़कियों को पुलिस ने अभी तक कोर्ट में पेश करने में कामयाब नहीं हो पाई है. कोर्ट के सख्त निर्देश के बावजूद हेबियस कॉर्पस के आदेशों का पालन नहीं करवाया जा सका. नित्यानंद त्रिनिदाद और टोबैगो में भारतीय कानून की शिकंजा से काफी दूर जा चुका है. बावजूद इसके नित्यानंद के साथी मंजुला पूजा श्रॉफ, अमिताभ शाह और रश्मि शाह को पुलिस हेबियस कॉर्पस में क्यों शामिल क्यों नहीं कर रही? अगर गुजरात पुलिस नित्यानंद तक पहुंचना चालती है तो उसके सबसे नजदीकी लोगों में शामिल इस तिकड़ी पर अपना शिकंजा कसना होगा.

अहमदाबाद के हाथीजण इलाके में मौजूद डीपीएस स्कूल में चलने वाले नित्यानंद के आश्रम योगीनी सर्वजनपीठम में से 2 लड़कियों के गायब होने के मामले को लेकर गुजरात हाईकोर्ट में हेबियस कॉपर्स की याचिका दायर की गई थी. इस मामले में अब तक आधा दर्जन से ज्यादा पेशी हो चुकी है. अगली सुनवाई 24 जनवरी को होने वाली है. ऐसे में लापता दो लड़कियों में से एक लोपामुद्रा ने ब्रिटेन के किंग्स्टन से गुजरात उच्च न्यायालय में अपना हलफनामा पेश किया है. हालांकि, हाई कमीशन ने इस हलफनामे में लिखे विवरणों की सच्चाई को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है. उच्चायोग ने कहा है कि हलफनामे की हस्ताक्षर और फोटो को प्रमाणित कर रहे हैं लेकिन हलफनामे की सामग्री की हम कोई गारंटी नहीं लेते.

पिछले साल नवंबर में अहमदाबाद के हाथीजण इलाके में मौजूद डीपीएस स्कूल में गैर कानून रुप से चलने वाले नित्यानंद के आश्रम से दो लड़कियों के गायब होने के मामले को लेकर इन लड़कियों के पिता जनार्दन शर्मा ने गुजरात उच्च न्यायालय में हेबियस कॉपर्स की याचिका दाखिल की थी. गुजरात उच्च न्यायालय में मामले की तत्काल सुनवाई हुई. गुजरात उच्च न्यायालय ने पुलिस फटकार लगाते हुए दोनों लापता लड़कियों को कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया था. जिसके बाद ये दोनों लड़कियों ने विदेश से हलफनामा पेश करते हुए दावा किया था कि वे किसी दबाव में नहीं हैं वह अपने मन से स्वामी के साथ विदेश गई हैं. हालाँकि अदालत ने बार-बार पेश होने पर जोर दिया है, लेकिन ये दो लड़किया कोर्ट में पेश नहीं हो रही. ऐसे में सवाल ये उठता है कि ये दोनों लड़कियां बिना किसी डर या दबाव में अपना हलफनामा दे रही हैं?

स्वामी नित्यानंद और उसके सहयोगी लगातार पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं. हाईकोर्ट में भी स्वामी नित्यानंद के चांडाल चौकड़ी भरमाने की कोशिश कर उच्च न्यायालय में डमी पार्टियों को खड़ा कर चुके हैं. स्वामी नित्यानंद के सहयोगी मंजुला पूजा श्रॉफ, अमिताभ शाह और रश्मि शाह के घनिष्ठ संबंध है जिसकी रिपोर्ट पहले ही गुजरात एक्सक्लूजिव प्रकाशित कर चुका है. ऐसे में सवाल ये उठता है कि पुलिस भ्रमित होगी या फिर नित्यानंद के सहयोगियों को कानून के शिकंजा में लेकर अदालत के आदेश का पालन करवायेगी ये देखना दिलचस्प होगा.

VIDEO:बलात्कारी नित्यानंद से प्रभावित मिसेज इंडिया ने कहा, ‘I Love You..!