Gujarat Exclusive > देश-विदेश > श्रमिक विशेष ट्रेनों में उड़ी सरकारी निर्देशों की धज्जियां, मजदूरों से वसूला गया किराया

श्रमिक विशेष ट्रेनों में उड़ी सरकारी निर्देशों की धज्जियां, मजदूरों से वसूला गया किराया

0
4148

लॉकडाउन के बीच चलाई गईं स्पेशल ट्रेनों में सवार लोगों से अब किराए भी वसूले जा रहे हैं. महाराष्ट्र के नासिक से भोपाल पहुंचे प्रवासियों ने बताया कि भोपाल पहुंचने से पहले ही उनसे 305 रुपये के टिकट के एवज में 315-315 रुपये प्रति यात्री वसूल किए गए. मजदूरों ने बताया कि उन्हें कहा गया था कि ये ट्रेन फ्री में उन्हें भोपाल तक पहुंचाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ. हालांकि, यात्रियों को बीच ट्रेन में खाना भी परोसा गया था. बता दें कि लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद राज्य सरकारों के अनुरोध पर रेलवे ने शुक्रवार को देशभर में छह स्पेशल ट्रेनें चलाई थीं. उनमें से एक ये ट्रेन भी शामिल है.

केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश में कहा गया था कि इन छह ट्रेनों के लिए यात्री किराए का खर्च या तो जिस राज्य से प्रवासी जा रहे हैं वहां की सरकार वहन करेगी या तो जिन राज्यों में ये प्रवासी जा रहे हैं, वहां की सरकार करेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. रेलवे ने इन छह ट्रेनों में स्लीपर क्लास के किराये के अलावा 30 रुपये का सुपर फास्ट चार्ज भी लगाया है। 20 रुपए टिकट के नाम पर भी वसूले गए हैं. इन पैसों के एवज में खाना उपलब्ध कराने की सुविधा भी शामिल है.

शुक्रवार को जिन छह ट्रेनों का परिचालन किया गया उनमें पहली ट्रेन तेलंगाना के लिंगमपल्ली स्टेशन से झारखंड के रांची में हटिया स्टेशन तक चलाई गई. इनके अलावा केरल के अलुवा से ओडिशा के भुवनेश्वर, महाराष्ट्र के नासिक से यूपी के लखनऊ, नासिक से भोपाल, राजस्थान के जयपुर से बिहार के पटना और राजस्थान के कोटा से झारखंड के रांची तक स्पेशल ट्रेन शामिल थी. इन ट्रेनों के सफल संचालन के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि देशभर में इसी तरह की और स्पेशल ट्रेनें लॉकडाउन के दौरान चलाई जा सकती हैं.

रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा, 21 मई के बाद कोरोना के नए मामले आने हो जाएंगे बंद