Gujarat Exclusive > देश-विदेश > योग प्राचीन भारतीय विरासत का हिस्सा है, यह मानवता के लिए भारत का उपहार: राष्ट्रपति कोविंद

योग प्राचीन भारतीय विरासत का हिस्सा है, यह मानवता के लिए भारत का उपहार: राष्ट्रपति कोविंद

0
142

नई दिल्ली: आज दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. इस मौके पर देश के अलग-अलग हिस्सों में योग से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने योग दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि योग प्राचीन भारतीय विरासत का एक हिस्सा है. यह मानवता के लिए भारत का उपहार, स्वास्थ्य और कल्याण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण है. योग मन, शरीर और आत्मा को संतुलित करता है.

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर लाल किले में आयोजित योग कार्यक्रम में भाग लिया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि हमारी 5000 साल पुरानी सभ्यता है. योग का विचार अब दुनिया भर में पहुंच गया है. ये जीवन का उत्सव है. हमने यहां 12,000 लोगों के लिए योग कार्यक्रम का आयोजन किया. ये अनुभव अद्वितीय था.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि योग दुनिया को जोड़ती है. जो लोग योग करते हैं, उनके मन में शांति की भावना होती है. यहां योग करने के लिए कूटनीति से जुड़े हुए लोग और विश्वविद्यालयों से छात्र आए हैं. यह बहुत खुशी की बात है. यह शांति के पक्ष में एक भावना है, जिसे हम प्रकट कर रहे हैं.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने त्यागराज स्टेडियम में आयोजित योग कार्यक्रम में हिस्सा लिया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि अगर हम रोज़ आधा-पौना घंटा योग करेंगे तो इससे बीमारी और चिंता दूर रहती है. वैसे तो ज़िंदगी में चिंता कभी ख़त्म नहीं होती है लेकिन, योग करने से चिंता कम ज़रूर हो जाती है.

PM का शुक्रिया उन्होंने योग को पूरे विश्व में मान्यता दिलाई, उत्तराखंड संस्कृति की धरती है: CM धामी