Gujarat Exclusive > देश-विदेश > एक्शन में योगी सरकार, प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए 10 हजार बसें लगाने की तैयारी

एक्शन में योगी सरकार, प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए 10 हजार बसें लगाने की तैयारी

0
1622

देश में जारी कोरोना संकट के बीच लगातार संक्रमितों के मामले बढ़ रहे हैं. हालांकि संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लॉकडाउन का तीसरा चरण पूरे देश में लागू है. लॉकडाउन के कारण कई राज्यों में प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं जिन्हें अब धीरे-धीरे उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया जा रहा है. इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने फैसला किया है कि वह अपने राज्य के प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए 10 हजार बसें सेवा में लगाएंगे.

कोरोना वायरस के मामलों के निपटारे और देखरेख के लिए उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 बनाई है. सीएम योगी अक्सर इनके साथ बैठक कर मामलों की जानकारी लेते हैं साथ ही आगे के फैसले भी तय करते हैं. सोमवार को एक बार फिर से इनकी बैठक हुई. इसके बाद मुख्यमंत्री ने प्रवासी कामगार मजदूरों को सुरक्षित अपने घरों तक पहुंचाने के लिए 10 हजार बसों की व्यवस्था करने की बात कही है. इतना ही नहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर इन सब की मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए 50 हजार से अधिक मेडिकल टीम भी लगाई गई है.

सोमवार को गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक से पांच अलग-अलग ट्रेन प्रवासी मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश पहुंचेगी. इन सभी को शुरुआत में सरकार द्वारा जिलों में बनाए गए क्वारनटीन सेंटर में भर्ती कराया जाएगा. फिर उनका मेडिकल टेस्ट होगा. उसके बाद ही घर या क्वारनटीन सेंटर भेजने का फैसला लिया जाएगा.

मालूम हो कि गृह मंत्रालय के नए आदेश के बाद अब प्रवासी मजदूरों को बारी-बारी से अपने गृह राज्य भेजा जा रहा है. एक स्पेशल ट्रेन 1200 प्रवासी मजदूरों को लेकर कानपुर पहुंची है. ये सभी मजदूर गुजरात के साबरमती में फंसे हुए थे. लखनऊ में भी 800 प्रवासी मजदूरों को लेकर एक ट्रेन रविवार सुबह चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंची. वहीं महाराष्ट्र के भिवंडी से लगभग 1200 मजदूरों को लेकर एक ट्रेन गोरखपुर के लिए रवाना हो चुकी है.

Corona Live Update: बीते 24 घंटे में 2553 मामले आए और 1074 लोग हुए ठीक