Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > 15 हजार करोड़ खर्च करके में घर-घर पानी पहुंचाएगी योगी सरकार

15 हजार करोड़ खर्च करके में घर-घर पानी पहुंचाएगी योगी सरकार

0
508

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य में सुख सुविधाओं को लेकर लगातार काम कर रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुंदेलखंड, विंध्याचल, इंसेलाइटिस प्रभावित क्षेत्रों और आर्सेनिक व फ्लोराइड प्रभावित इलाकों में हर घर तक नल से जल पहुंचाने की योजना की शुरूआत करेंगे. पीएम मोदी के नेतृत्व में चलाए जा रहे अभियान के तहत मुख्यमंत्री योगी ने चार चरणों में हर घर तक नल से जल पहुंचाने का बेड़ा उठाया.

सर्फेस वाटर और अंडरग्राउंट वाटर के माध्यम से घर-घर तक पेय जल पहुंचाया जाएगा. 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से पहले चरण में बुंदेलखंड और विंध्याचल में अगले 2 साल के भीतर हर घर तक पीने का पानी पहुंचेगा. सीएम योगी ने जल शक्ति मंत्रालय की महत्वपूर्ण बैठक कर रणनीति बनाई है. जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे. जो कार्यदायी संस्था काम करेगी उसी की अगले 10 सालों तक रखरखाव की जिम्मेदारी होगी.

दूसरे चरण में सोनभद्र और मिर्जापुर में हर घर तक पानी पहुंचाया जाएगा. तीसरे चरण में जापानी बुखार और इंसेफलाइटिस से प्रभावित क्षेत्रों में योजना पूरी होगी. चौथे चरण में आर्सेनिक व फ्लोराइड से प्रभावित गंगा यमुना के तटवर्ती क्षेत्रों में पेयजल योजना पहुंचेगी.

कार्य किया जाए और इसके लिए टीमों की संख्या में वृद्धि करते हुए लगभग एक लाख से अधिक टीम गठित की जाएं. मुख्यमंत्री यहां लोक भवन में एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे . उन्होंने निर्देश दिए कि ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में प्रत्येक सप्ताह टीम द्वारा निर्धारित क्षेत्रों में जांच की जाए और जांच टीम को पल्स ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर तथा सेनेटाइजर आदि अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराए जाए . कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना के कार्य को तेज किए जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रियों द्वारा कोविड हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया जाए.

दुनिया के नौवें सबसे अमीर शक्स मुकेश अंबानी की संपत्ति एक दिन में 36,500 करोड़ रु. बढ़ी